बड़ी खबर: LAC पर चीनी सेना ने समेटना शुरू किया बोरिया बिस्तर, गलवान से 1 KM. तक पीछे हटे सैनिक

LAC : भारत और चीन के बीच लद्दाख में पिछले आठ हफ्तों से चल रहे विवाद के बीच चीनी सेना आखिरकार पीछे हट गई है. इस बीच खबर ये भी है कि सीमा विवाद को देखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है.

दूसरी तरफ इन खबरों के बीच चीन ने अपनी सेना पीछे हटाने का फैसला किया है. चीन के सैनिक एक किलोमीटर तक पीछे हट चुके हैं.

गलवान को बनाया गया बफर जोन

सूत्रों की मानें, तो दोनों देशों की सेना ने रिलोकेशन पर सहमति जाहिर की है और सेनाएं मौजूदा स्थान से पीछे हटी हैं. गलवान घाटी के पास अब बफर जोन बनाया गया है, ताकि किसी तरह की हिं;’सा की घटना फिर ना हो पाए.

ये भी पढ़ें : PUBG की सनक में बेटे ने उड़ाए 16लाख,पैसे की अहमियत सिखाने पिता ने स्कूटर रिपेयरिंग शाप पर बिठाया

चीनी सेना ने अपने टेंट, गाड़ी और सैनिकों को पीछे हटाना शुरू कर दिया है. कॉर्प्स कमांडर लेवल की बातचीत में यही तय हुआ था. आर्मी के सूत्रों के अनुसार, चीनी करीब एक किमी. पीछे गए हैं, जो भारतीय हिस्से से देखा जा सकता है. हालांकि, गलवान घाटी में काफी पीछे तक चीन ने अपना साजो सामान रखा हुआ है. इसके बाद दोनों सेनाओं में आगे की बात भी हो सकती है.

मई से चल रहा है तनाव

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच मई के महीने से तनाव की स्थिति बनी हुई है. पूर्वी लद्दाख बॉर्डर पर गलवान घाटी के पास पैंगोंग लेक तक चीनी सेना और भारतीय सेना आमने-सामने हैं.

जून के पहले हफ्ते में दोनों देशों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ, जहां पर सैन्य लेवल पर बात हुई. लेकिन 15 जून को इसी दौरान गलवान घाटी में झड़प हुई, जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे. चीन को भी बड़ा नुकसान हुआ, लेकिन उसने कभी इसे नहीं माना.