यूं ही नहीं दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता है PM मोदी, 7 साल में वाराणसी को दिए ये मेगा प्रॉजेक्ट्स

Newzbulletin Online DesK: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे (PM Modi Varanasi Visit) पर इस बार कुल 1475 करोड़ की योजनाओं की सौगात दी गई है। केंद्र और राज्य सरकार की तमाम योजनाओं के उद्घाटन (Varanasi gets Rs. 1583-cr worth projects) और शिलान्यास के साथ ही वाराणसी के विकास की दिशा में एक और कदम उठाया जा चुका है। 

2014 में वाराणसी के सांसद बने नरेंद्र मोदी (PM Modi Varanasi Visit) ने पीएम बनने के बाद वाराणसी (Varanasi gets Rs. 1583-cr worth projects) को कई बड़े तोहफे दिए हैं। बतौर सांसद वाराणसी में उनका यह दूसरा कार्यकाल है। देखें, वाराणसी को पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने दिया किन बड़ी योजनाओं का तोहफा?

रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर

वाराणसी के सिगरा इलाके में बने रुद्राक्ष कन्वेंशन ऐंड को-ऑर्परेशन सेंटर (Rudraksh International Cooperation Convention Centre) का लोकार्पण गुरुवार को पीएम मोदी (PM Modi Varanasi Visit) के हाथों हुआ है। 186 करोड़ की लागत और जापान के सहयोग से बना कन्वेंशन सेंटर शहर के मुख्य इलाके में स्थित है। इस कन्वेंशन सेंटर में अब अंतरराष्ट्रीय स्तर के आयोजन कराए जा सकेंगे और वाराणसी में पर्यटन को इससे बड़ा लाभ होगा।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग के मंदिर (Kashi Jyotirling Vishwanath Temple) के सौंदर्यीकरण प्रॉजेक्ट के रूप में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर (Kashi Vishwanath Corridor) का निर्माण किया जा रहा है। मंदिर के संकरे इलाके के तमाम मकानों का अधिग्रहण कर अब इसे एक सुंदर देवस्थान और भव्य परिसर का रूप दिया जा रहा है। इस प्रॉजेक्ट के अगले साल की शुरुआत में पूरा होने का अनुमान है और इसपर करीब 700 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

वाराणसी रिंग रोड

वाराणसी के सांसद बनने के बाद प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने यहां पर सड़कों का एक बड़ा नेटवर्क बनवाया है। वाराणसी के रिंग रोड प्रॉजेक्ट का काम इसमें मुख्य है। तीन फेज में बन रहे रिंग रोड प्रॉजेक्ट (Ring Road Project) का एक हिस्सा वाराणसी से बाबतपुर के रास्ते पर, दूसरा जिला मुख्यालय से चंदौली और तीसरा कैंट से राजातालाब के रास्ते पर बनाया जा रहा है। इस पूरी योजना पर 1 हजार करोड़ रुपये से अधिक खर्च किया जाना है।

बीएचयू में स्वास्थ्य सेवाओं का विकास

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) में केंद्र सरकार की ओर से स्वास्थ्य सुविधाओं के लिहाज से कई बड़े निर्माण कार्य कराए गए हैं। गुरुवार को बीएचयू में बच्चों के लिए 100 बेड के एमसीएच विंग की शुरुआत हुई है। इसके अलावा यहां एक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण भी कराया गया है। बीएचयू को एम्स की तर्ज पर विकसित करने की दिशा में भी स्वास्थ्य विभाग के स्तर पर कामकाज किया जा रहा है। वाराणसी शहर के कई अन्य अस्पतालों में भी नए ऑक्सीजन प्लांट्स और अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की जा रही हैं।

वाराणसी स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट

वाराणसी के तमाम इलाकों को स्मार्ट सिटी (Varanasi Smart City Project) की तर्ज पर विकसित करने की दिशा में कई योजनाओं को सामूहिक रूप से पूरा कराया जा रहा है। इस क्रम में शहर में स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, इंटीग्रेटेड कमांड ऐंड कंट्रोल सिस्टम, अंडरग्राउंड केबलिंग प्रॉजेक्ट, स्ट्रीट लाइटिंग प्रॉजेक्ट्स पर काम किया जा रहा है।

इनलैंड वॉटर वेज प्रॉजेक्ट

वाराणसी से हल्दिया तक पानी के मालवाहक एवं यात्री जहाज चलाने (Varanasi Haldia National Inland Waterways Project) की दिशा में वाराणसी में इनलैंड वॉटर वेज नेटवर्क (Inland Waterways Project) बनाने का काम किया जा रहा है। इसके तहत वाराणसी के राजघाट में पोर्ट बनाने और गंगा में ड्रेजिंग कर क्रूज सेवा शुरू कराने पर काम किया गया है।

वंदे भारत एक्सप्रेस और स्टेशनों का विकास

वाराणसी के तमाम रेलवे स्टेशंस को नरेंद्र मोदी के पीएम (PM Narendra Modi) बनने के बाद और विकसित किया गया है। शहर के प्रमुख मंडुवाडीह स्टेशन का नाम बदलकर अब वाराणसी स्टेशन किया गया है। इसके अलावा यहां से कई प्रमुख ट्रेनों की शुरुआत के साथ इसके प्लेटफॉर्म बढ़ाए गए हैं।

वाराणसी को पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने महामना एक्सप्रेस (Mahamana Express), वंदे भारत एक्सप्रेस (Varanasi Vande Bharat Express), महाकाल एक्सप्रेस (IRCTC Kashi Mahakal Humsafar Express), मंडुवाडीह नई दिल्ली सुपरफास्ट एक्सप्रेस (Manduadih-New Delhi Superfast Express) जैसी कई बड़ी ट्रेनों का तोहफा दिया है। इसके साथ ही वाराणसी को हाई स्पीड रेल कॉरिडोर (High Speed Rail Corridor) में जोड़ने और बुलेट ट्रेन प्रॉजेक्ट में शामिल करने पर भी काम जारी है।

Leave a Comment