केशव मौर्य का अखिलेश से सवाल- ‘आपके पास अरबों-खरबों की संपत्ति कहां से आई?’

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi Adityanath) को अनुपयोगी बताने वाले बयान पर पलटवार किया है।

मौर्य (Keshav Prasad Maurya) सोमवार को प्रयागराज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के मंगलवार को होने वाले मातृशक्ति महाकुंभ की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे। इस दौरान डिप्टी सीएम ने परेड मैदान में कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। साथ ही मेला प्राधिकरण कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक भी की।

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री ने जिस मंच पर सीएम योगी को उपयोगी बताया उस पर मैं मौजूद था। अखिलेश यादव की बौखलाहट और बेचैनी बता रही ​है कि पहले जो सत्ता का स्वप्न वह देख रहे थे, स्वप्न ही रहने वाला है। सपा सरकार में जो गुंडे और माफिया जालीदार टोपी लगाए रखते थे अब लाल टोपी लगाए घूम रहे हैं।

डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी 2022 में 2017 वाला आंकड़ा भी छू पाएगी इसमें उन्हें शक है।

अखिलेश यादव के फोन टैपिंग कराए जाने वाले आरोप पर केपी मौर्य ने कहा, चुनाव हारने पर वह ईवीएम हैक होने और ध्रुवीकरण करने का भी आरोप लगाएंगे। दरअसल, अखिलेश यादव अभी से इस अभ्यास में लगे हैं कि 2022 के चुनाव परिणाम आने पर कैसे रिएक्ट करेंगे और अपना बचाव करेंगे।

अखिलेश के करीबियों पर आयकर विभाग की कार्रवाई के बारे में केशव मौर्य ने कहा, समाजवादी पार्टी का इतिहास रहा है, जब सत्ता में रहे तब और जब सत्ता में नहीं रहे तब, भ्रष्टाचार के आरोप उनपर लगते रहे हैं। अगर उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है तो बौखला क्यों रहे हैं।

यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा, जांच के बाद कार्रवाई हो रही है। आयकर विभाग के पास महत्वपूर्ण साक्ष्य होंगे, उस आधार पर छापे पड़े। अखिलेश यादव जी से मैं सवाल करना चाहता हूं कि आपके पास अरबों खरबों की संपत्ति कहां से आई? प्रदेश की जनता जानना चाहती है, चुनाव के मैदान में मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रहे हो।

छापा अखिलेश यादव जी के यहां नहीं पड़ा, किसी और के वहां पड़ा है, लेकिन सबसे ज्यादा बैचेन अखिलेश यादव हो रहे हैं। जिन्होंने घोटला किया, घपला किया, जो इसके दोषी हैं वे पकड़े जाएंगे।