कंझावला केस: पीड़िता की सहेली ने सुनाई दर्दभरी दास्तां, वो चिल्लाती रही, हैवानियत दिखाते रहे वो लोग

दिल्ली के कंझावला केस को लेकर पीड़िता की दोस्त ने बड़ा खुलासा किया है. पीड़िता की दोस्त ने उस हादसे की पूरी आपबीती बताई है. पीड़िता की दोस्त ने कहा कि हादसे के समय वह बहुत तेज चीख रही थी.

इसके साथ ही पीड़ित की दोस्त ने कहा कि हादसे के समय वह काफी चिल्लाती रही लेकिन गाड़ी वाले खींचते रहे. इसके साथ ही दोस्त ने कहा मैंने इस घटना के बारे में अपनी मम्मी को बतया था और हादसे के बाद मैं अपने घर चली गई.

हिंदी चैनल आज तक को दिए इंटरव्यू में पीड़िता की दोस्त ने कहा कि कार के अंदर कोई म्यूजिक नहीं चल रहा था और कार में सवार लोगों को पता चल चुका था कि हादसा हो गया था. उसने ने दावा किया कि आरोपी जानबूझकर उसे घसीटते रहे.ॉ

उसने कहा कि शुरू में वह स्कूटी चला रही थी लेकिन बाद में पीड़िता ने स्कूटी चलाई. वहीं उसने कहा कि इस घटना के बारे में पुलिस को बताने का दिमाग में नहीं आया. इसके साथ ही पीड़िता की दोस्त ने कहा कि इस हादसे के बाद लड़कों ने कार को आगे पीछे किया और फिर इसके बाद वह फरार हो गए.

 

 

वहीं इस हादसे में मृतक पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ गई है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि युवती को कार से टक्कर मारने के बाद कई किलोमीटर तक घसीटा गया, उसकी मौत सिर, रीढ़ की हड्डी और निचले अंगों में चोट लगने के परिणामस्वरूप रक्स्राव होने तथा आघात पहुंचने के चलते हुई.

इसके साथ ही रिपोर्ट में युवती को लगी कोई भी चोट उसका यौन उत्पीड़न होने का साक्ष्य नहीं देती है. पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों का मानना है कि उसके निजी अंगों पर चोट के कोई निशान नहीं हैं. युवती का पोस्टमार्टम सोमवार को मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज परिसर में एक मेडिकल बोर्ड की निगरानी में किया गया.