भारत की बेटी कमला हैरिस ने रचा इतिहास, बनी पहली एशियाई अमेरिकी उपराष्ट्रपति पर की उम्मीदवार

0
460
Kamla harris
(Image Courtesy: Google)

वॉशिंगटन। भारतीय मूल की नेता कमला हैरिस ने इतिहास रच दिया है। वह अमेरिकी उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार घोषित की गई हैं। कमला हैरिस भारतीय मूल की पहली ऐसी शख्सियत हैं, जो राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति उम्मीदवार बनी हैं।

पार्टी के ऐलान के बाद भावुक कमला हैरिस ने अपनी मां को याद किया। हैरिस ने कहा कि मेरी मां ने कभी सोचा भी नहीं किया था कि उनकी बेटी उपराष्‍ट्रपति के लिए उम्‍मीदवार होगी।

पहली दक्षिण एशियाई उम्मीदवार

कमला हैरिस पहली अश्‍वेत और दक्षिण एशियाई हैं जिन्‍हें इतने शीर्ष पद के लिए उम्‍मीदवार बनाया गया है। कमला हैरिस ने पार्टी से कहा, ‘मैं अमेरिका के राष्‍ट्रपति चुनाव में आपके उपराष्‍ट्रपति पद के नामांकन को स्‍वीकार करती हूं।’ हैरिस ने कहा कि उनकी दिवंगत मां ने उन्‍हें लोगों की सेवा करना सीखाया था। उन्‍होंने कहा कि काश आज मेरी मां मौजूद होतीं लेकिन मुझे उम्‍मीद है कि वह आसमान से मुझे देख रही होंगी।

वर्ष 2009 में कमला हैरिस की मां निधन

साल 2009 में कमला हैरिस की मां का कैं;स’र से निधन हो गया था। हैरिस अगर तीन नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव में निर्वाचित होती हैं] तो वह इस पद पर पहुंचने वाली पहली भारतीय-अफ्रीकी महिला होंगी।

हैरिस की मां भारत की थीं जबकि पिता जमैका के निवासी थे। संयोग से हैरिस का अनुमोदन भाषण अमेरिका द्वारा 19वें संविधान संशोधन के अनुमोदन की 100 वीं सालगिरह के एक दिन बाद हुआ। इस संशोधन को सुसैन बी एंथोनी संशोधन भी कहते हैं जिसके जरिए अमेरिकी महिलाओं को मताधिकार मिला था।

हैरिस ने ट्वीट किया, ‘आज से ठीक सौ साल पहले 19वें संशोधन को अनुमोदित किया गया लेकिन दशकों तक अश्‍वेत महिलाएं इस संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल नहीं पाई थीं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति प्रत्याशी नहीं बन पाती अगर मेरे पहले उन्होंने लड़ा नहीं होता और रास्ता नहीं बनाया होता।’