होम टॉप न्यूज भारतीय रेलवे का चीन को करारा जवाब, रद्द किया चीनी कंपनी को...

भारतीय रेलवे का चीन को करारा जवाब, रद्द किया चीनी कंपनी को दिया 471 करोड़ का प्रोजेक्ट

0
284
Indian-Railways-terminate-c
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्‍ली. लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों की कायराना हरकत के बाद भारतीय रेलवे ने चीन की अकड़ ढीली कर दी है. एक ओर जहां गुरुवार को भारत-चीन के बीच मेजर जनरल स्तर की वार्ता हुई, तो दूसरी तरफ भारतीय रेलवे ने चीनी कंपनी से 471 करोड़ का करार खत्म कर दिया है.

चीन के ताजा रवैये को देखते हुए सरकार भी विभिन्न मोर्चों पर एक्शन लेने की तैयारी में है.

रेलवे ने तोड़ा चीनी कंपनी से कॉन्ट्रैक्ट

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार भारतीय रेलवे के डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने बीजिंग नेशनल रेलवे रसिर्च एंड डिजाइन इंस्‍टीट्यूट ऑफ सिग्‍नल एंड कम्‍युनिकेशंस ग्रुप कॉ. लि. से करार खत्‍म कर दिया है.

इस प्रोजेक्‍ट के तहत कानपुर और इहन दयाल उपाध्‍याय रेलवे स्‍टेशन के सेक्‍शन के बीच 417 किमी में सिग्‍नलिंग व टेलीकम्‍युनिकेशंस का काम होना था. इसकी लागत 471 करोड़ रुपये है.

गलवान घाटी की घटना को लेकर देश में गुस्सा

बता दें कि गलवान घाटी में सोमवार शाम भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मी वीरगती को प्राप्त हो गए थे. इस झड़प में भारतीय सेना के लगभग 18 जवान अभी भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे. सूत्रों ने बताया कि गलवान घाटी के निकट दोनों पक्षों के बीच हुई वार्ता मंगलवार और बुधवार को बेनतीजा रही थी.

ये भी पढ़ें : पति का ताबूत देख बोली वीर सुनील की विधवा, मोदी जी 1 के बदले चाहिए 100… वरना माफ नहीं करूंगी

मेजर जनरल स्तरीय बातचीत में गलवान घाटी से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया को लागू करने पर चर्चा हुई थी. छह जून को दोनों पक्षों के बीच उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता में इसी पर सहमति बनी थी. चीन को कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा था कि भारत शांति चाहता है किंतु यदि उकसाया गया तो वह यथोचित जवाब देने में सक्षम है. साथ ही उन्होंने कहा था कि भारतीय जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.