खुफिया एजेंसियों ने सरकार को जारी किया अलर्ट, कहा-भारत में तुरंत बैन करें TikTok समेत 52 चीनी एप्स

0
860
PM-Modi-TikTok
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. LAC पर भारत और चीन पर जारी तनाव के बीच खुफिया एजेंसियों ने सरकार को चीनी मोबाइल एप्स (Ban China Apps) को लेकर आगाह किया है. खुफिया एजेंसियों ने TikTok समेत 52 चीनी एप्स को ब्लॉक करने की सलाह दी है.

सुरक्षा एजेंसियों ने कहा है कि इन एप्स को या तो सरकार ब्लॉक कर दे, या फिर लोगों को इनका इस्तेमाल ना करने की सलाह दे.

सुरक्षित नहीं चीनी एप्स

खुफिया एजेंसियों का कहना है कि चीन के ये एप्स इस्तेमाल करना सुरक्षित नहीं है. यह एप्स बड़े पैमाने पर डेटा भारत से बाहर भेज रहे हैं. इसमें लोगों की निजी जानकारियां हैं, जो देश के लिए खतरा है. सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार को जो लिस्ट भेजी है उसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप जूम, टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, एक्सएंडर, शेयर इट और क्लीन मास्टर जैसे एप शामिल हैं.

जूम को लेकर एडवाजरी जारी कर चुका है गृह मंत्रालय

बता दें कि लॉकडाउन के वक्त अप्रैल में गृह मंत्रालय ने जूम के इस्तेमाल को लेकर एक एडवाइजरी जारी की थी. यह एडवाइजरी नेशनल साइबर सिक्यॉरिटी एजेंसी कंप्यूटर इमर्जेंसी रेस्पॉन्स टीम इंडिया (CERT-in) के प्रस्ताव पर गृहमंत्रालय की तरफ से जारी की गई थी. भारत पहला देश नहीं है जिसने सरकार में जूम एप के इस्तेमाल पर रोक लगाई.

इससे पहले ताइवान ने भी सरकारी एजेंसियों को जूम एप के इस्तेमाल से रोक दिया. जर्मनी और अमेरिका भी ऐसा ही कर चुके हैं. कंपनी ने गृह मंत्रालय की एडवाइजरी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह यूजर्स की सिक्यॉरिटी को लेकर गंभीर है.

ये हैं वो चीनी एप्स

  • TikTok
  • Vault-Hide
  • Vigo Video
  • Bigo Live
  • Weibo
  • WeChat
  • SHAREit
  • UC News
  • UC Browser
  • BeautyPlus
  • Xender
  • ClubFactory
  • Helo
  • LIKE

इसके अलावा 38 और एप हैं जिनकी लिस्ट सरकार के पास भेज दी गई है और जल्द ही इस पर कार्रवाई हो सकती है.