भारतीय कोस्ट गार्ड ने पेश की इंसानियत की मिसाल, पाकिस्तान जहाज के कैप्टन को दिया जीवनदान

0
383
Indian Cost Gaurd
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली। पूरी दुनिया जानती है कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कुछ खास अच्छे नहीं हैं। पाकिस्तान की हर नापाक हरकत का जवाब देने के साथ भारत अपनी दरियाद‍िली से उसे आईना दिखाता रहा है। भारतीय कोस्ट गार्ड ने मानवीय पहलू पिछले महीने देखने को मिला।

दरअसल, भारतीय कोस्ट गार्ड ने एक पाकिस्तानी कारोबारी जहाज के कप्तान की जान बचाई और उसे ओडिशा में गोपालपुर के रास्ते अपने देश लौटने में मदद की।

कैप्टन को पड़ा था दिल का दौरा

बताया जा रहा है कि 60 साल के पाकिस्तानी कप्तान बदर हस्नैन को 13 जुलाई के दिन दिल का दौरा पड़ा था और उसने आपात संदेश देकर मदद मांगी थी। कैप्टन हसनैन की हालत अब स्थिर है और सोमवार को ही उन्हें अटारी-वाघा सीमा के जरिये पाकिस्तान वापस भेज दिया गया है।

कप्तान हस्नैन को आपात स्थिति में मानवीय आधार पर मदद दिए जाने पर उनकी बेटी ने भारत सरकार को मानवीय संवेदनाओं और भारतीय डॉक्टरों को चिकित्सकीय सहायता के लिए धन्यवाद कहा है।

भारतीय कोस्ट गार्ड ने बचाई थी जान

13 जुलाई को भारतीय कोस्ट गार्ड ने हस्नैन की तबियत खराब होने पर चेन्नई स्थित मेरीटाइम रेस्क्यू कोआर्डिनेशन सेंटर पहुंचाया था। पाकिस्तानी जहाज के कप्तान की तबियत बिगड़ने पर उनके जहाज को विशाखापत्तनम की ओर मोड़ दिया गया था। जबकि हस्नैन को अस्पताल में भर्ती कराके तत्काल उनका इलाज तत्काल शुरू कराया गया था।