Indian Air Force की ताकत बने 5 Rafale विमान, औपचारिक रूप से वायुसेना में शामिल

अंबाला. भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) का नया ब्रह्मास्त्र राफेल (Rafale) आज औपचारिक रूप से शामिल हो गया है. अंबाला एयरबेस पर सर्व धर्म पूजा के बाद राफेल 17 स्क्वॉड्रन ‘गोल्डन ऐरोज’ में शामिल किया गया। इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोंरेस पार्ले (Florence Parle) भी मौजूद थे.

भारत-चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत के लिए इस उपलब्धि को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. राफेल के भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में शामिल होने के बाद दुश्मनों के खिलाफ बड़ी बढ़त के तौर पर देखा जा रहा है.

Rafale को वाटर कैनन से दी गई सलामी

आज सुबह अंबाला एयरबेस पर Rafale Jet को वाटर कैनन से सलामी दी गई. फ्लाईपास्ट के शुरू होने के साथ ही 4.5 पीढ़ी का लड़ाकू विमान राफेल आसमान में करतब भी दिखाया. बता दें कि भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में 5 राफेल लड़ाकू विमान शामिल हुए हैं.

तेजस ने दिखाया पराक्रम

इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान देश में निर्मित तेजस लड़ाकू विमान ने अपना करतब दिखाया. अंबाला एयरबेस तेज की उड़ान से रोमांचित हो गया. वहां बैठे गणमान्य अतिथियों ने ताली बजाकर तेज की उड़ान का स्वागत किया. फ्लाई पास्ट के दौरान रंग-बिरंगे हेलीकॉप्टर सारंग ने भी राफेल के भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में शामिल होने का जश्न मनाया और अपना करतब दिखाया.

ये भी पढ़ें : CM योगी का चला डंडा, भ्रष्टाचार के आरोप में प्रयागराज SSP सस्पेंड, 6 IPS का तबादला

एयर शो में सुखोई, जगुआर और तेज ने भी लिया भाग

राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद हुए एयर शो में सुखोई, जगुआर, देश में निर्मित स्वदेसी तेजस जैसे लड़ाकू विमान शामिल हुए. तेजस की उड़ा ने सबको प्रभावित किया.

राफेल के लिए हुई सर्व धर्म पूजा

5 धर्मों के धर्मगुरुओं ने राफेल को वायुसेना में पूरे पूजा पाठ के साथ शामिल कराया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, फ्रांस की रक्षा मंत्री, सीडीएस बिपिन रावत, एयरफोर्स चीफ भदौरिया इस मौके पर मौजूद रहे.