#India2Dubai : कोरोना संकट में बदले नियम, भारत से UAE जाना है तो ऐसे जाने PCR टेस्ट की वैलिडिटी

#India2Dubai : कोरोना महामारी के कारण कई लोग ऐसे हैं, जो अपने देश से दूर फंस रखे हैं. अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स बंद होने की वजह से इन लोगों को सबसे ज्यादा परेशानियां हो रही है. खाड़ी देशों में कई ऐसे लोग हैं, जिनका घर बिजनेस सब वहीं है, लेकिन वह लॉकडाउन के कारण भारत में फंस गए.

कुछ ऐसा ही एक्सपीरियंस रहा भारत से दुबई लौटी कामिनी कानन का, जो लॉकडाउन के कारण काफी दिनों से कोच्चि में फंसी हुई थी. कामिनी ने खलीज टाइम्स से बातचीत में कोरोना संकट के दौरान कैसे ट्रैवल करें और क्या-क्या सावधानी बरतें इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी है.

दुबई पहुंची फ्लाइट के यात्रियों ने शेयर किया एक्सपीरियंस

दरअसल, UAE ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी पाबंदी हटा दी है और भारत से पहली कर्मर्शियल फ्लाइट भी कल दुबई पहुंची. एमिरेट्स की पहली फ्लाइट में कोच्चि से दुबई पहुंची कामिनी कानन के अनुसार पीसीआर टेस्ट की वैलेडिटी को लेकर लोग सबसे ज्यादा कन्फ्यूज हैं. पीसीआर टेस्ट की 96 घंटे की वैलिडिटी सैंपल सबमिशन के साथ शुरू हो जाती है.

पीसीआर टेस्ट को लेकर भ्रम

उनके मुताबिक, कई लोग इस बात को लेकर भ्रम में रहते हैं कि पीसीआर टेस्ट का नतीजा जारी होने के बाद से 96 घंटे की वैलिडिटी को गिना जाता है, जो सही नहीं है. जो लोग भारत से खाड़ी देशों की यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए उन्होंने कई टिप्स भी दिए हैं.

कामिनी ने साथ ही बताया कि पीसीआर टेस्ट केवल आईसीएमआर द्वारा प्रमाणित टेस्ट सेंटर से ही कराएं. हमने देखा कि कुछ लोग नॉन एक्रिडेटेड सेंटर से टेस्ट कराकर आए थे और उन्हें इस वजह से फ्लाइट में चढ़ने नहीं दिया गया. सेंटर की डीटेल्स के लिए आरोग्य सेतु एप्प का इस्तेमाल किया जा सकता है. उन्होंने बताया कि अपना सैंपल सबमिट करने के तीन दिन के अंदर फ्लाइट बुक कर लें. अगर किसी वजह से फ्लाइट कैंसल होती है तो आपके पास चौथा दिन बच जाएगा.

कुछ ऐसा है एयरपोर्ट का नजारा

दिल्ली से दुबई की फ्लाइट में लौट रहे अपने पति का एयरपोर्ट पर इंतजार करने वाली तृष्णा सिंह ने बताया कि लैंडिंग के बाद सबकुछ पहले जैसा ही है, बस कुछ नियम बदल गए हैं. जैसे इमिग्रेश से ठीक पहले एयरपोर्ट अथॉरिटी यात्रियों से डिक्लेरेशन फॉर्म लेने के साथ उन्हें एक छोटे पाउच में टेस्टिंग किट देती है.

उन्होंने बताया कि इमिग्रेशन पूरा होने के बाद आपको सबसे पहले कोविड-19 टेस्टिंग एरिया की तरफ जाना होगा, जहां टेस्टिंग किट के साथ आपका सैंपल लिया जाएगा. बिना टेस्ट के किसी भी यात्री को एयरपोर्ट से बाहर जो की इजाजत नहीं दी जाएगी. यहां आपको एयरपोर्ट स्टाफ कोविड-19 दुबई एप के बारे में जानकारी भी देंगे.

तृष्णा ने बताया कि एयरपोर्ट में सिर्फ दुबई ड्यूटी फ्री शॉप्स खुली हैं. एयरपोर्ट से बाहर आने के बाद आपको आम दिनों के तरह टैक्सी और वेटिंग में खड़े लोग दिख जाएंगे.

भारत से UAE लौट रहे हैं तो ध्यान रखें ये बातें

  • UAE के लिए फ्लाइट टिकट बुक करने से पहले अपना पीसीआर टेस्ट जरूर करा लें
  • अपने पीसीआर टेस्ट की वैलिडिटी उसी समय से गिने जब आपने सैंपल सबमिट किया. यह वैलिडिटी 96 घंटे की है
  • ट्रैवलिंग से पहले GDRFA/ICA के अप्रूवल की कॉपियां बनाकर साथ रखें
  • एयरपोर्ट पर जल्दी पहुंचे
  • बेहतर होगा कि खुद अपनी पीपीई किट और फेस शील्ड लेकर चलें, क्योंकि बोर्डिंग के वक्त यह अनिवार्य है.
  • अपे साथ हैंड सैनिटाइजर की बोतल ले जाना ना भूलें
  • अगर बच्चों के साथ ट्रैवल कर रहे हैं, तो ध्यान रखें कि उन्होंने मास्क पहना हुआ हो
  • फ्लाइट में आपको प्री-पैक्ड फूड दिया जाएगा, इसलिए बाद के लिए बचा कर रखें
  • एयरपोर्ट पर लिए गए कोविड-19 के सैंपल का रिजल्ट आने तक आपको होम क्वारंटीन रहा होगा
  • अगर भारत में आपके शहर में लॉकडाउन है और आपको एयरपोर्ट आना है, या फिर किसी दूसरे राज्य में जाा है तो आप ऑनलाइन ई पास- के लिए यहां अप्लाई कर सकते हैं.
  • यह समय ऐसा है कि ट्रैवलिंग के दौरान कोई भी फ्लाइट कैंसल की जा सकती है, ऐसे में दूसरे ट्रैवल प्लान पहले से तैयार रखें.

जरूरी हैं ये दस्तावेज

  • दुबई और शारजाह आने वाले यात्रियों के लिए GDRFA के अप्रूवल की कॉपी
  • अबु धाबी आने वाले पैंसेंजर्स के लिए ICA के अप्रूवल की कॉपी. वैसे ICA के अप्रूवल वाले यात्रियों को UAE के सभी एयरपोर्ट्स पर एंट्री मिल जाएगी.
  • PCR Covid-19 नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट की एक कॉपी
  • हेल्थ डिक्लेरेशन और क्वारंटीन अंडरटेकिंग फॉर्मस जो आपको भरकर दुबई एयरपोर्ट के अराइवल में जमा करने पड़ेंगे
  • पासपोर्ट और टिकट