होम टॉप न्यूज चीन को मुंहतोड़ जवाब देगा भारत, पूर्वी लद्दाख में LAC पर तैनात...

चीन को मुंहतोड़ जवाब देगा भारत, पूर्वी लद्दाख में LAC पर तैनात किया एयर डिफेंस सिस्टम

0
129
Air-Defence-System
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. भारत-चीन के बीच पिछले 2 महीने से तनाव से चल रहा तनाव खत्म होने नाम लेता नहीं दिख रहा है. इस बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख में एयर डिफेंस सिस्टम तैनात कर दिया है. यहां बता दें कि सीमा विवाद को देखते हुए सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे दो दिन से लद्दाख में थे.

सेना प्रमुख के लद्दाख दौरे के महज एक दिन बाद वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर की बढ़ती गतिविधियों को देखते हुए एयर डिफेंस सिस्टम की तैनाती की गई है.

सीमा के आसपास हो रही थी चीनी हलचल

सरकारी सूत्रों के अनुसार, पूर्वी लद्दाख सेक्टर में चल रहे बिल्ड-अप के हिस्से के रूप में भारतीय थल सेना और भारतीय वायु सेना दोनों की वायु रक्षा प्रणालियों को तैनात किया है. चीनी वायु सेना के लड़ाकू जेट या पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के हेलीकॉप्टर पिछले कुछ दिनों से इन इलाकों में दिखाई दे रहे थे. डिफेंस सिस्टम तैनात होने के बाद अब चीनी सेना के किसी भी दुस्साहस को रोकने के लिए लद्दाख सेक्टर में एयर डिफेंस मिसा;यल सिस्टम तैनात किया गया है.

ये भी पढ़ें : सदी के टॉप 30 क्रिकेटरों की लिस्ट विजडन ने की जारी, टेस्ट में सचिन को नहीं मिली जगह

पिछले कुछ हफ्तों में, चीनी बलों के सुखोई-30 जैसे विमान को भारतीय सीमा से महज 10 किलोमीटर दूर उड़ते देखा गया है. दूसरी तरफ जल्द ही भारत के पास रूस से अत्यधिक सक्षम वायु रक्षा प्रणाली S-400 मिलने वाला है. उम्मीद की जा रही है कि उसे भी एलएसी पर तैनात किया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि एलएसी पर इन विमानों की तैनाती का मतलब पूरे क्षेत्र का ध्यान रखना है.

यहां उड़ान भर रहे हैं चीनी हेलीकॉप्टर

सूत्रों का कहना है कि चीनी हेलीकॉप्टर सब सेक्टर नॉर्थ (दौलत बेग ओल्डी सेक्टर), गलवान घाटी के पास पेट्रोलिंग पॉइंट 14, पेट्रोलिंग पॉइंट 15, पेट्रोलिंग पॉइंट 17 और 17 ए (हॉट) सहित सभी विवादित क्षेत्रों में भारतीय एलएसी के बहुत करीब से उड़ान भर रहे हैं. पैंगोंग सो और फिंगर क्षेत्र के साथ स्प्रिंग्स क्षेत्र, जहां वे अब फिंगर 3 क्षेत्र के करीब जा रहे हैं.

चीन की इन गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए भारत ने एयर डिफेंस मिसा;इल को सीमा पर तैनात करने का फैसला लिया है. इसके लिए हवा में बहुत तेज चलने वाले लड़ाकू विमान, ड्रोन को उतारा जा सकता है. इसके साथ ही भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान पूर्वी लद्दाख में काफी सक्रिय हैं. सीमा क्षेत्र में चीन की तरफ से किसी भी तरह की गतिविधि को सही समय पर रोका जा सके इसके लिए पूरी निगरानी की जा रही है.