देशभर में ‘देसी’ कंपनी Hetero ने शुरू की कोरोना वैक्सीन सप्लाई, मेडिकल स्टोर पर बढ़ी डिमांड

0
219
Coronavirus-Vaccine
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्‍ली. देशभर में कोरोना संकट के बीच देसी फार्मा कंपनी Hetero ने अपनी नई कोरोना वैक्सीन की सप्लाई शुरू कर दी है. कई मेडिकल स्टोर्स पर लोग वैक्सीन के बारे में जानकारी हासिल करने के साथ इसकी मांग कर रहे हैं. इस बीच कंपनी ने भी 20 हजार वैक्सीन की देशभर में सप्लाई शुरू कर दी है.

कई मेडिकल स्टोर्स पर लोग दवा के बारे में पूछताछ कर रहे हैं. हालांकि, अभी यह दवा सिर्फ डॉक्टरों की रिकमन्डेशन यानी पर्ची के बाद ही दी जाएगी.

देशभर में शुरू हुई आपूर्ति

कंपनी का कहना है कि उसकी कोविड-19 वैक्सीन कोविफोर रेमडेसिवीर की अलग-अलग सेटों में आपूर्ति की जा रही है. दस हजार वैक्सीन हैदराबाद, दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु, मुंबई तथा महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों में की जा रही है. बाकी 10,000 वैक्सीन की आपूर्ति कोलकाता, इंदौर, भोपाल, लखनऊ, पटना, भुवनेश्वर, रांची, विजयवाड़ा, कोचिन, त्रिवेंद्रम और गोवा में एक सप्ताह में की जाएगी.

हेटेरो फार्मा के मुताबिक, इस दवा का अधिकतम खुदरा मूल्य 5,400 रुपए प्रति शीशी तय किया है. इससे पहले एक अन्य फार्मा कंपनी सिप्ला ने मंगलवार को कहा था कि वह रेमडेसिवीर के जेनेरिक संस्करण की कीमत 5,000 रुपए प्रति शीशी से कम रखेगी. कंपनी ने कहा है कि उसकी यह दवा आठ से दस दिन में उपलब्ध होगी.

क्या बोले कंपनी के प्रबंध निदेशक

हेटेरो हेल्थकेयर के प्रबंध निदेशक एम श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि भारत में कोविफोर को पेश करना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है. कोविफोर के जरिये हम अस्पताल में मरीज के इलाज के समय को कम कर सकेंगे, जिससे चिकित्सा ढांचे पर दबाव कम हो सकेगा. कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से इस समय चिकित्सा ढांचे पर काफी दबाव है.

ये भी पढ़ें : चाय वाले की बेटी बनी फ्लाइंग ऑफिसर, सेना के लिए छोड़ी 2-2 सरकारी नौकरी

उन्होंने कहा कि कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम कर रही है, जिससे जनता और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को कोविफोर आसानी से उपलब्ध हो सके. कोविफोर रेमडेसिवीर का पहला जेनेरिक संस्करण है. कंपनी ने बयान में कहा कि इस दवा का इस्तेमाल बालिगों और बच्चों, अस्पतालों में गंभीर संक्रमण की वजह से भर्ती मरीजों के इलाज में किया जा सकता है. यह दावा 100 एमजी की शीशी इंजेक्शन लगाने के लिए) में उपलब्ध होगी.

इससे पहले हेटेरो ने रविवार को कहा था कि उसे भारतीय दवा महानियंत्रक डीजीसीआई) से रेमडेसिवीर के विनिर्माण और विपणन की मंजूरी मिल गई है.