पति का ताबूत देख बोली वीर सुनील की विधवा, मोदी जी 1 के बदले चाहिए 100… वरना माफ नहीं करूंगी

पटना. लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में देश के लिए अपनी जान देने वाले वीर सुनील कुमार का गुरुवार को पटना में अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान उनकी पत्नी ने ‘1 के बदले 100’ की मांग की है.

पटना के तारापुर गांव में गुरुवार को हवलदार सुनील कुमार की अंतिम यात्रा निकाली गई. उनकी अंतिम यात्रा में आसपास के गांवों से भी लोग बड़ी संख्या में पहुंचे. इस दौरान ‘भारत माता की जय’, ‘चीन मुर्दाबाद’ और ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, सुनील तेरा नाम रहेगा’ जैसे नारों से पूरा आसमान गूंज उठा.

वीर सपूत पर सभी को गर्व

लोगों को वीर सपूत सुनील के जाने का दुख तो था लेकिन इस बात का गर्व भी था कि सपूत ने देश के लिए अपने प्राण न्योछावर किए हैं। सुनील कुमार की पत्नी ने भी अंतिम विदाई देते हुए पार्थिव शरीर को सैल्यूट किया। उनके घर के आंगन में पत्नी, मां, बुजुर्ग लकवाग्रस्त पिता सब पार्थिव शरीर से लिपटकर घंटों रोते रहे।

ये भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की देश से अपील, चाइनीज खाना बेचने वाले होटल हो बैन.. लोग करें बहिष्कार

पत्नी बोली-चीन से बदला लो मोदी जी

शही;द सुनील की वीरांगना ने कहा, “चीन से बदला लो, मोदी जी तुम बदला लो, वरना नहीं करूंगी कभी माफ। मेरे पति की श;हादत बेकार नहीं जानी चाहिए। चीन पर भी होना चाहिए सर्जि.;कल स्ट्रा;इक एक के बदले सौ चाहिए मोदी जी।”

राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

वीर सपूत सुनील के पार्थिव शरीर का गंगा नदी के तट पर हल्दी छपरा घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके बड़े पुत्र ने मुखाग्नि दी। इससे पहले सेना के जवानों ने अंतिम सलामी दी। वीर सुनील कुमार की अंतिम यात्रा में बिहार के मंत्री नंदकिशोर यादव, सांसद रामकृपाल यादव, विधायक भाई वीरेंद्र सहित कई अधिकारी भी उपस्थित थे।