आंदोलन खत्म होते ही राजनीति में कूदे किसान नेता, पंजाब की सभी सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

चंडीगढ़। किसान आंदोलन की कामयाबी के बाद अब किसान नेताओं को राजनीति रास आने लगी है। किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने शनिवार को राजनीति में आने का फैसला किया है।

चढ़ूनी ने आज अपनी राजनीतिक पार्टी ‘संयुक्त संघर्ष पार्टी’ का ऐलान कर दिया है। चढ़ूनी ने ऐलान करते हुए कहा कि उनका दल पंजाब की सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेगा।

बता दें कि चढ़ूनी संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्य हैं जो 40 किसान संगठनों से मिलकर बना है। SKM ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ एक साल तक चले किसानों के आंदोलन का नेतृत्व किया। बाद में केंद्र की मोदी सरकार ने इन कानूनों को रद्द कर दिया गया।

चढ़ूनी ने चंडीगढ़ में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हम संयुक्त संघर्ष पार्टी बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी अगले साल की शुरुआत में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ेगी। चढ़ूनी ने कहा कि हमारा उद्देश्य राजनीति में शुचिता तथा अच्छे लोगों को आगे लाना होगा.’ वह हरियाणा भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष भी हैं।

राजनेताओं की आलोचना करते हुए किसान नेता कहा कि वे गरीबों के हितों को नजरअंदाज करते हुए पूंजीपतियों के पक्ष में नीतियां बनाते हैं। उन्होंने कहा कि संयुक्त संघर्ष पार्टी धर्मनिरपेक्ष होगी और यह समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम करेगी।