अभी-अभी: भारत-चीन तनाव पर मोदी सरकार ने सेना को जारी किया 500 करोड़ का इमरजेंसी फंड

नई दिल्ली. लाइन ऑफ एक्चुल कंट्रोल यानी एलएसी पर भारत-चीन के बीच जारी तनातनी के बीच मोदी सरकार ने बड़ा फैसला किया है. मोदी सरकार ने मौजूदा हालातों को देखते हुए भारत की तीनों सेनाओं को 500 करोड़ का इमरजेंसी फंड जारी कर दिया है.

500 करोड़ के इस फंड से सेना अपनी जरूरत के मुताबिक, ह;थि’यार खरीद सकती है. मोदी सरकार ने आपातकालीन स्थिति में निपटने के लिए सेना के लिए फंड जारी किया है. सेना को मिली यह बड़ी आर्थिक मदद है.

युद्ध जैसे हालातों को देखते हुए लिया फैसला

लद्दाख की घटना के बाद चीन के खिलाफ भारत ने सख्त रुख अपना लिया है. बीते कुछ दिनों में भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर और जेट्स एलएसी के पास उड़ान भर चुके हैं. तीनों सेनाओं को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

सूत्रों के अनुसार, केंद्र सरकार ने युद्ध जैसे हालात बनते देख तीनों सेनाओं को आर्थिक शक्तियां दी है. इस शक्ति के तहत तीनों सेनाएं जरूरत के मुताबिक, साजो-सामान खरीद सकेंगी.

डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स की सहमती से होगा फैसला

इस प्रोजेक्ट के तहत सुरक्षाबल, डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स की सहमति के साथ जरूरी समझने पर किसी भी तरह के ह;थि’यार खरीद सकेंगे. सेनाएं जिन ह;थि’यारों की कमी से जूझ रही हैं उन्हें भी खरीदने की इजाजत मिल सकेगी. वे खरीदारी के लिए सूची खरीद सकेंगे.

तीनों सेनाएं पहले ही ह;थि’यारों और उपकरणों की एक सूची तैयार कर चुकी हैं. अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें जल्द ही खरीद लिया जाएगा. पिछले 4 सालों में सुरक्षा बलों ने कई पुर्जों और मि;सा’इलों का स्टॉक किया था, जो उस वक्त भारत के पास बेहद कम थे.