बड़ी खबर: पूर्व अटॉनी जनरल मुकुल रोहतगी ने किया सुप्रीम कोर्ट में टिकटॉक की पैरवी करने से इंकार

0
204
Mukul-Rohatagi-Tiktok
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. भारत में TikTok समेत 59 चाइनीज एप बंद होने के बाद पूर्व अटॉनी जनरल मुकुल रोहतगी ने भी अब टिकटॉक की पैरवी करने से इंकार कर दिया है. दरअसल, LAC पर चीन की नापाक हरकत के बाद सरकार ने सोमवार रात 59 चीनी एप बैन कर दिए थे.

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व अटॉर्नी जनरल ने साफ शब्दों में कहा कि वह टिकटॉक की पैरवी करते हुए सुप्रीम कोर्ट में भारत सरकार के खिलाफ दलीलें नहीं देंगे.

क्या बोले रोहतगी

एक समाचार चैनल से बातचीत में मुकुल रोहतगी ने साफ कहा कि उनको जो भी कहना था, वो कोर्ट के सामने कह चुके हैं. इसके अलावा उनको कुछ भी नहीं कहना है. वह कोर्ट में टिकटॉक के लिए पैरवी नहीं करेंगे.

भारत में 59 ऐप्स बैन होने से चिंतित चीन

गौरतलब है कि देश की सुरक्षा पर खतरे वाले चीनी ऐप्स पर मोदी सरकार ने एक्शन शुरु कर दिया है. टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स पर सोमवार रात बैन लगा दिया गया है. चीन के 59 ऐप्स, जिनमें टिकटॉक भी शामिल है, उस पर पाबंदी लग चुकी है. बैन सभी ऐप का डेटा अगले एक- दो दिन में रोक दिया जाएगा.

आपको बता दें कि ये प्रतिबंध अंतरिम है. अब मामला एक समिति के पास जाएगा. प्रतिबंधित ऐप समिति के सामने अपना पक्ष रख सकती हैं इसके बाद समिति तय करेगी कि प्रतिबंध जारी रखा जाए या हटा दिया जाए. फिलहाल, ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर स्टोर से हटा दी गई हैं. इनके अपडेट भी नहीं मिलेंगे.

टिकटॉक ने दी थी सफाई

मोदी सरकार के फैसले के बाद टिकटॉक की तरफ से सफाई दी गई थी. उसने कहा है कि सरकार के आदेश का पालन किया जा रहा है, लेकिन उसकी तरफ से किसी भी भारतीय यूजर की जानकारी किसी भी दूसरे देश के साथ साझा नहीं की गई है, यहां तक कि चीन के साथ भी नहीं.