370 हटने के बाद JK में पहली बार चुनाव, 1,427 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करेंगे 7 लाख वोटर

New Delhi: JK DDC Election: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने और राज्य को दो भागों में बांटे जाने के बाद प्रदेश में शनिवार को पहली बार चुनाव कराए जा रहे हैं।

जिला विकास परिषद के इस चुनाव (JK DDC Election) में गुपकार गठबंधन के दल भी चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा कांग्रेस, बीजेपी और जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी भी चुनावी मैदान में है। शनिवार को सुबह से ही डीडीसी चुनाव के पहले चरण के लिए वोट डाले जा रहे हैं।

बताया गया कि प्रदेश में शनिवार को डीडीसी चुनाव (JK DDC Election) के पहले चरण के साथ-साथ पंचायत उपचुनावों के लिए भी वोटिंग की जा रही है। इन चुनावों में कुल 1 हजार 427 उम्मीदवार मैदान में हैं और 7 लाख मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं।

राज्य चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने बताया कि पहले चरण में सुचारू रूप से मतदान के लिए 2 हजार 146 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। शर्मा ने बताया कि पहले चरण में 7 लाख मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

इन सात लाख मतदाताओं में से कश्मीर संभाग में 3.72 लाख मतदाता हैं और जम्मू संभाग में 3.28 लाख मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र शासित क्षेत्र में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव के लिए कुल 280 निर्वाचन क्षेत्र हैं। पहले चरण में इनमें से 43 क्षेत्रों में सुबह सात बजे से दोपहर दो बजे तक मतदान होगा।

चुनाव आयुक्त ने कोविड-19 के मद्देनजर लोगों से अपील की है कि वे चुनाव आयोग की ओर से जारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए मतदान केंद्र पर मास्क पहनें और सामाजिक दूरी का पालन करें।