स्वामी प्रसाद मौर्या संग हुंकार भरने के बाद फंसे अखिलेश यादव, भारी भीड़ जुटने पर FIR दर्ज

डेस्क: SP Virtual Rally: विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) की तारीखों के ऐलान के बाद दल-बदल की राजनीति तेज हो गई है। स्वामी प्रसाद मौर्या समेत बीजेपी के कई बड़े नेता लगातार सपा में शामिल हो रहे हैं। इस बीच समाजवादी पार्टी कार्यालय (SP Office) में आज कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जुट गई। आचार संहिता के उल्लंघन पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया है।

लखनऊ डीएम (Lucknow DM) अभिषेक प्रकाश का कहना है कि बिना अनुमति समाजवादी पार्टी की रैली हो रही है। उन्होंने कहा कि मामला संज्ञान में आने के बाद पाया गया है कि आदर्श आचार संहिता और COVID-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ है। हमने मामले में प्राथमिकी दर्ज की है।

लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा कि बिना परमिशन सपा कार्यालय में रैली (SP Rally) करने की बात संज्ञान में आते ही उनकी टीम वहां पहुंची है। पुलिस (UP Police) के सीनियर अधिकारियों के साथ ही चुनाव आयोग के सीनियर अधिकारी भी वहां पर मौजूद हैं। लखनऊ के डीएम ने कहा था कि रिपोर्ट आते ही नियम संगत कार्रवाई की जाएगी। जिसके बाद अब मामले में FIR दर्ज की गई है।

‘बिना परमिशन सपा ऑफिस में हुई रैली’

सपा के यूपी प्रमुख नरेश उत्तम ने मामले पर सफाई देते हुए कहा कि उनकी पार्टी कार्यालय के अंदर एक वर्चुअल कार्यक्रम हो रहा था। उनकी तरफ से किसी को फोन नहीं किया गया था लेकिन फिर भी लोग आ गए। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि सभी लोग COVID प्रोटोकॉल का पालन करते हुए काम कर रहे हैं। इसके साथ ही बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी के मंत्रियों के दरवाजे और बाजारों में भी भीड़ है, लेकिन उन्हें बस सपा से परेशानी है।

चुनाव आयोग के नियमों की अनदेखी

बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर के बीच चुनाव आयोग ने फिजिकल रैली पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। लेकिन इसके बावजूद भी चुनाव आयोग के नियमों की अनदेखी करते हुए अखिलेश यादव ने लखनऊ में एक बड़ी रैली की। बीजेपी से सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य संग हुंकार भर उन्होंने चुनाव आयोग के नियमों को पूरी तरह से ताक पर रख दिया। इस दौरान वहां पर हजारों की संख्या में भीड़ जुटी। आचार संहिता के उल्लंघन के बाद चुनाव आयोग के मामले पर संज्ञान लिया है।

गौतम पल्‍ली थाना इंचार्ज सस्‍पेंड

समाजवादी पार्टी (सपा) मुख्यालय में कोविड नियमों और आचार संहिता के उल्‍लंघन को चुनाव आयोग ने सख्‍ती से लिया है। EC के निर्देश पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। लखनऊ के गौतम पल्ली थाना में धारा 144 के उल्लंघन का भी केस दर्ज किया गया है। चुनाव आयोग ने गौतम पल्‍ली थाने के प्रभारी दिनेश सिंह विष्ट को ‘कर्तव्यों के निर्वहन में घोर लापरवाही बरतने’ के चलते तत्‍काल प्रभाव से निलंबत कर दिया है।

स्वामी प्रसाद मौर्य संग अखिलेश यादव की हुंकार

बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य बीजेपी से सपा में शामिल हुए हैं। आज अखिलेश यादव ने फिजिकल रैली पर रोक लगने के बाद भी सपा कार्यालय में हजारों की संख्या में भीड़ जुटाकर चुनावी रैली को संबोधित किया। जिसके बाद लखनऊ के डीएम ने मामले में एक्शन लेते हुए पुलिस की टीम को तुरंत सपा ऑफिस रवाना किया। वहीं चुनाव आयोग के अधिकारी भी वहां पर मौजूद हैं।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.