PM Modi की सुरक्षा चूक मामले में बड़ी कार्रवाई! फिरोजपुर के SSP हरमन हंस पर गिरी गाज, सस्पेंड

नई दिल्ली: PM Modi in Ferozpur: पंजाब में पीएम मोदी के कार्यक्रम में सुरक्षा चूक (PM Modi Security Breach) को लेकर पहली बड़ी कार्रवाई हुई है। फिरोजपुर के एसएसपी हरमन हंस (Ferozpur SSP Harman Hans Suspend) को निलंबित कर दिया गया है।

बता दें कि फिरोजपुर जिले में हुसैनीवाला के पास पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध (PM Modi Security Breach) लग गई जिसके बाद पीएम मोदी (PM Modi in Ferozpur) का काफिले 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसा रहा। प्रदर्शनकारियों ने उनके रूट को जाम कर दिया था।

इसके बाद पीएम की सुरक्षा में तैनात स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) ने मोर्चा संभाल लिया और पीएम की गाड़ी के चारों तरफ सुरक्षा घेरा खड़ा कर दिया। सुरक्षा में चूक होने के बाद पीएम मोदी ने फिरोजपुर में होने वाली रैली को रद्द कर दिया और बठिंडा एयरपोर्ट वापस आ गए।

एयरपोर्ट पहुंचकर पीएम मोदी ने नाराजगी जाहिर करते हुए अधिकारियों से कहा कि सीएम साहब का शुक्रिया कहना मैं बचकर आ गया हूं। पीएम के रूट पर प्रदर्शनकारियों की मौजूदगी को गृह मंत्रालय ने भी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है और इसपर पंजाब सरकार से एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

दरअसल, पीएम मोदी बठिंडा पहुंचे थे। यहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। लेकिन खराब रोशनी और बारिश के चलते पीएम मोदी 20 मिनट तक इंतजार करते रहे।

मौसम में सुधार नहीं हुआ, तो पीएम मोदी ने सड़क के रास्ते राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाने का फैसला किया। इस रास्ते से 2 घंटे का समय लगना था। पंजाब डीजीपी से सुरक्षा प्रबंधों की पुष्टि के बाद पीएम मोदी सड़क के रास्ते आगे बढ़े थे।

लेकिन रास्ते में जैसे ही एक फ्लाईओवर पर उनका काफिला पहुंचा वहां प्रदर्शनकारियों ने उनके रास्ते को रोक दिया। इस वजह से उनका पूरा काफिला फ्लाईओवर पर ही खड़ा रहा। इस दौरान सुरक्षा को लेकर एसपीजी ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से भी संपर्क करने की कोशिश की लेकिन कहा जा रहा है कि वो फोन पर नहीं आए।

हालांकि केंद्र सरकार और बीजेपी के आरोपों को कांग्रेस ने सिरे से खारिज कर दिया और इससे सुरक्षा में चूक मानने से भी इनकार कर दिया।

बता दें आज पीएम मोदी पंजाब में बीजेपी का चुनावी प्रचार शुरू करने जा रहे थे। सुबह से ही फिरोजपुर में भीड़ इकट्ठा होना शुरू हो गई थी। लेकिन ये किसी को अंदाजा नहीं था कि चंद प्रदर्शनकारियों की वजह से पीएम मोदी की रैली को ही रद्द करना पड़ जाएगा।