Earthquake Today: सुबह-सुबह भूकंप के झटके से हिले भारत के ये दो राज्य, जानिए कहां-क्या हुआ असर

नई दिल्ली. शुक्रवार तड़के भारत के 2 राज्य भूकंप (Earthquake Today) के झटकों से थर्रा उठे. सबसे पहले ओडिशा के भूकंप (Earthquake Today) आया उसके ठीक बाद उत्तराखंड में भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए. भूगर्भ वैज्ञानिकों के अनुसार, दोनों की भूकंप हल्की तीव्रता के थे, जिसकी वजह से जानमाल का नुकसान नहीं हुआ.

शुक्रवार सुबह ओडिशा के मयूरभांज जिले में शुक्रवार तड़के भूकंप (Earthquake Today) आया, वहीं उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में झटके महसूस किए गए.

नहीं हुआ कोई नुकसान

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ओडिशा के मयूरभांज जिले में शुक्रवार तड़के 2.13 मिनट पर यह भूकंप (Earthquake Today) आया. नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक, रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.9 मापी गई. अभी तक यहां किसी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है.

वहीं, उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आज तड़के 3.10 मिनट पर भूकंप (Earthquake Today) आया. नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक, रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 2.6 मापी गई. तीव्रता कम होने की वजह से अब तक किसी नुकसान की खबर नहीं है.

भूकंप (Earthquake Today) को नापने का पैमाना क्या है?

भूंकप की जांच रिक्टर स्केल से होती है. भूकंप (Earthquake Today) के दौरान धरती के भीतर से जो ऊर्जा निकलती है, उसकी तीव्रता को इससे मापा जाता है. इसी तीव्रता से भूकंप के झटके की भयावहता का अंदाजा होता है.

भूकंप आने पर क्या करें और क्या न करें

भूकंप (Earthquake Today) आने से पहले इसकी जानकारी होने की संभावना नहीं होती है. ऐसे समय यह समझना मुश्किल होता है कि क्या करना उचित होगा. भूकंप के वक्त मकान, दफ्तर या किसी भी इमारत में अगर आप मौजूद हैं तो वहां से बाहर निकलकर खुले में आ जाएं. इसके बाद खुले मैदान की ओर भागें.

भूकंप (Earthquake Today) के दौरान खुले मैदान से ज्यादा सुरक्षित जगह कोई नहीं होती. भूकंप आने की स्थिति में किसी बिल्डिंग के आसपास न खड़े हों. अगर आप ऐसी बिल्डिंग में हैं, जहां लिफ्ट हो तो लिफ्ट का इस्तेमाल बिल्कुल न करें. ऐसी स्थिति में सीढ़ियों का इस्तेमाल करना ही उचित होता है.

ये भी पढ़ें:  हैदराबाद चुनाव में ओवैसी को बड़ा झटका, रुझानों में BJP को मिला बहुमत

भूकंप (Earthquake Today) के दौरान घर के दरवाजे और खिड़की को खुला रखें. इसके अलावा घर की सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें. अगर बिल्डिंग बहुत ऊंची हो और तुरंत उतर पाना मुमकिन न हो तो बिल्डिंग में मौजूद किसी मेज, ऊंची चौकी या बेड के नीचे छिप जाएं. भूकंप के दौरान लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो पैनिक न करें और किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं, ऐसे में स्थिति और बुरी हो सकती है.