अब सुरक्षित नहीं दुश्मन के टैंक, भारत ने किया एंटी टैंक गाइडेड ‘NAG Missile’ का सफल परीक्षण

नई दिल्ली: भारत ने गुरुवार को एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग (NAG Missile) का सफल परीक्षण करते हुए अपनी सैन्य क्षमता में और इजाफा किया है. पोखरण में आज नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (NAG Missile) के अंतिम चरण का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया.

नाग एंटी टैंक गाइडेड (Nag Missile) मिसाइल का परीक्षण सुबह 6:45 बजे राजस्थान के पोखरण फील्ड रेंज में किया गया.

डीआरडीओ ने की विकसित

नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (Nag Missile) को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने विकसित किया है. पिछले डेढ़ महीने के दौरान डीआरडीओ का यह 12वीं मिसाइल का सफल सिस्टम परीक्षण है.

बीते दिनों डीआरडीओ प्रमुख जी सतीश रेड्डी ने इस बारे में आगे के इरादे भी जाहिर कर दिए थे. उन्होंने एक बयान में कहा ता कि डीआरडीओ स्वदेशी मिसाइलों को तैयार करने में जुटा हुआ है. जल्द ही मिसाइल क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा.

चीन को लगातार संदेश

बता दें कि इन मिसाइल परीक्षणों की टाइमिंग बेहद अहम है. ऐसे में सीमा पार चीन (China) से तनाव जारी है उसी बीच भारत की ताकत भी हर रोज बढ़ रही है.

ये भी पढ़ें: गृह मंत्री Amit Shah के 65वें जन्मदिन पर पीएम मोदी ने दी बधाई, कहा- आपका योगदान पूरा देश देख रहा है

इसी क्रम में आज बा’रू दी सुरंग रोधी प्रणाली से लैस स्वदेशी स्टील्थ यु;द्धपोत आईएनएस कवरात्ती (INS Kavaratti) भी नौसेना (Indian Navy) के बेड़े में शामिल किया जाएगा. भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से चीन बेहद परेशान है.