संसद तक ट्रैक्टर से पहुंचे राहुल गांधी, दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

Newzbulletin Desk: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की संसद के निकट तक ट्रैक्टर रैली (Rahul Gandhi Tractor rally) निकालने के मामले में केस दर्ज कर लिया है। संसद मार्ग थाने में कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ एमवी एक्ट, आईपीसी 188 और महामारी कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

राहुल गांधी ट्रैक्टर (Rahul Gandhi Tractor rally) लेकर पार्लियामेंट तक कैसे पहु्ंचे इस बात की जांच भी दिल्ली पुलिस कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अब तक कि जांच में पता चला है कि रविवार देर रात एक कंटेनर में रखकर ट्रैक्टर को लुटियन जोन इलाके में लाया गया था।

दरअसल, संसद के मानसून सत्र (Parliament Mosoon Session) के कारण इलाके में धारा-144 लागू रहती है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) समेत कई BJP नेताओं ने ट्रैक्टर रैली को लेकर राहुल गांधी (Rahul Gandhi Tractor rally) पर निशाना साधा था।

ऐसे में राहुल गंधी (Rahul Gandhi) बिना किसी पूर्व सूचना के इस तरह ट्रैक्टर के साथ कैसे संसद भवन पहुंचे।इस बात की बाकायदा जांच शुरू की गई तो यह पता चला कि रविवार देर रात एक कंटेनर में रखकर ट्रैक्टर को लुटियन जोन इलाके में लाया गया था। ताकि कृषि कानून के विरोध में उसे चलाकर संसद तक पहुंचा जा सके। फिलहाल दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर को जब्त कर लिया है। इस ट्रैक्टर के आगे और पीछे कोई नंबर प्लेट भी नही थी।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी की ओर से इस प्रदर्शन की इजाजत नहीं ली गई थी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि फिलहाल ये ट्रैक्टर केस प्रॉपर्टी है। इस ट्रैक्टर के आगे और पीछे कोई नंबर प्लेट नहीं होने के कारण इसके मालिक का भी कोई पता अभी नहीं चल पाया है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक नई दिल्ली इलाके में ट्रैक्टर चलाने और लाने पर पहले से ही पाबंदी है ऐसे में ये मोटर एक्ट का सीधा-सीधा उल्लंघन है।

गौरतलब है कि संसद का मॉनसून सत्र 19 जुलाई को शुरू हुआ था। तभी से विपक्षी दल महंगाई, कृषि कानूनों की वापसी और पेगासस जासूसी कांड का मुद्दा उठा रहे हैं। हालांकि हंगामे के कारण एक दिन भी संसद विधिवत तरीके से चल नहीं पाई है। संसद के मानसून सत्र के बीच ही किसान आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर रैली निकालकर राहुल गांधी संसद तक पहुंचे थे।ट्रैक्टर में राहुल गांधी के साथ कई अन्य कांग्रेस नेता भी बैठे थे, जो हाथों में कृषि कानूनों की वापसी की तख्तियां लिए हुए थे। राहुल खुद ट्रैक्टर चला रहे थे।