विदेश से लौट रहे हैं भारत, तो लैंड करते ही माननी होगी ये शर्तें.. जारी की नई गाइडलाइन्स

नई दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद हैं। भारत समेत कुछेक देश ही स्पेशल फ्लाइट्स के जरिए दूसरे देशों में फंसे अपने नागरिकों को वापस बुला रहे हैं। भारत ने इसी के तहत फ्रांस और UAE के साथ एयर बबल के तहत उड़ान शुरू की है।

विदेशों से भारत लौटने वाले यात्रियों के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी और सरकार की तरफ से कुछ विशेष गाइडलाइंस जारी की गई हैं।

होना पड़ेगा क्वारंटीन

दिल्‍ली एयरपोर्ट की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि अंतरराष्‍ट्रीय फ्लाइट से दिल्ली आने वाले यात्रियों को 7 दिनों के लिए Institutional Quarantine में रहना होगा। इसके बाद उन्हें 7 दिनों के लिए Home Quarantine किया जाएगा। कुल मिलाकर यात्रियों को 14 दिन क्वारंटीन में बिताने पड़ेंगे।

दिल्‍ली एयरपोर्ट की तरफ से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि विदेश से आने वाला जो पैसेंजर दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद Delhi-NCR में रुकना चाहता है, उसे पहले हेल्थ स्क्रीनिंग करानी होगी। इसके तहत एयरपोर्ट पर प्राइमरी स्क्रीनिंग होगी, फिर दिल्ली सरकार की तरफ से सेकंड्री स्क्रीनिंग होगी। उसके बाद ही 7 दिन कहां रुकना है, उस बारे में बताया जाएगा।

खुद उठाना होगा क्वारंटीन का खर्च

समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक, एयरपोर्ट की गाइडलाइन में साफ है कि 7 दिनों के Institutional Quarantine का खर्च यात्री को खुद उठाना होगा। इसका पैसा पहले जमा करना होगा।

क्या है एयर बबल

‘एयर बबल’ यात्रा व्यवस्था दो देशों के बीच एक खास सुरक्षा और यात्रा शर्तों के साथ बनाई जाती है, जैसे हाई डिमांड, लीगल एंट्री और एक्जिट नियम और इन सेक्टरों पर संचालन की एयरलाइन की इच्छा पर निर्भर करता है।

इन देशों को भारत ने दी छूट

अब तक भारत ने एयर फ्रांस (Air France) को दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई के लिए 18 जुलाई से 1 अगस्त तक 28 उड़ानें ऑपरेट करने की छूट दी है। जबकि अमेरिका स्थित यूनाइटेड एयरलाइंस को 17 जुलाई से 31 जुलाई के बीच 18 उड़ानें संचालित करने की इजाजत दी गई है।