भारत में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, शुक्रवार तक 13000 तक पहुंचा आंकड़ा; 437 की मौत

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। लॉकडाउन के दूसरे चरण के बावजूद हर दिन कोरोना के सैकड़ों मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि, एक अच्छी खबर ये है कि कोरोना से संक्रमित होने के बाद ठीक होने वाले लोगों का आंकड़ा भी बढ़ा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, आज सुबह तक देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 13387 मामले दर्ज किए गए। इन में 1749 लोग ऐसे हैं, जो पूरी तरह स्वस्थ्य होकर अपने घर जा चुके हैं। हालांकि, 437 मरीजों को कोरोना वायरस की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी है।

पांच राज्यों में बुरा हाल

भारत के 5 राज्यों में कोरोना वायरस तांडव मचा रहा है। महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, राजस्थान और मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले हैं।

यह भी पढ़ें : ‘रामायण’ की बदौलत दूरदर्शन की मिल रही छप्पर फाड़ टीआरपी, तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड

रिपोर्टों के अनुसार, देशभर में कुल कोरोना मामलों के 62 प्रतिशत से ज्यादा केस सिर्फ इन 5 राज्यों में ही हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 3205 केस दर्ज किए गए हैं। इसके बाद दिल्ली में 1640, तमिलनाडु में 1267, राजस्थान में 1131 और मध्य प्रदेश में 1120 कोरोना वायरस मामले सामने आए हैं।

चार राज्यों में तेजी से बढ़ रहे मरीज

इन राज्यों के अलावा गुजरात, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं हैं। भारत में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 437 लोगों की जान जा चुकी है। सबसे ज्यादा 194 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई है। जबकि मध्य प्रदेश में 53, दिल्ली में 38 और गुजरात में 36 लोगों की जान जा चुकी है।

हालांकि, कोरोना वायरस संकट के बीच राहत की खबर ये है कि इस वायरस के संक्रमण में आने के बाद देशभर में कुल 1749 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। अकेले महाराष्ट्र में 300 लोग ठीक हो चुके हैं, इसके बाद राजस्थान में 164, तमिलनाडु में 180, तेलंगाना में 186 और केरल में 245 लोग ठीक हो चुके हैं। बाकी लोग देश के अन्य राज्यों में ठीक हुए हैं।