मजदूरों को अपने खर्च पर घर भेज रही सरकार, श्रेय लेने में जुटी कांग्रेस; बांटे पर्चे-लगाए पोस्टर

0
920
Congress Poster Outside Amritsar Railway station
अमृतसर रेलवे स्टेशन के बाहर लगा कांग्रेस का पोस्टर (साभार- गूगल)

नई दिल्ली. कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच हजारों की संख्या में श्रमिक अपने घर लौट रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच राजनीति भी होने लगी है. दरअसल पंजाब में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन पर पोस्टर लगा दिए हैं, जिसमें श्रमिकों को घर भेजने का श्रेय लेने की कोशिश की जा रही है.

यहां बता दें कि श्रमिकों को घर भेजने का खर्च केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा वहन किया जा रहा है. समाचार पत्र दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब में प्रदेश से लेकर जिला स्तर तक कांग्रेसी नेता श्रमिकों को यह संदेश दे रहे हैं कि उनकी घर वापसी कांग्रेस की वजह से हो पा रही है. इतना ही नहीं कहा ये भी जा रहा है कि उनकी टिकट का खर्च कांग्रेस उठा रही है.

रिपोर्ट के अनुसार, खुद सीएम अमरिंदर सिंह के राजनीतिक सलाहकार व गिदड़बाहा के विधायक अमरिंदर सिंह राजा वडिंग बठिंडा में ट्रेन से मुजफ्फरपुर जाने वाले श्रमिकों के बीच में खुद पर्चे बांटते दिखे. रिपोर्ट में दावा किया गया है सिंह ने श्रमिकों से कहा कि उनके टिकट का खर्च कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उठाया है।

बताया जा रहा है कि पर्चे पर लिखा गया है कि मुश्किल दौर में कांग्रेस ने ही थामा श्रमिकों का हाथ, सोनिया ने कांग्रेस की प्रदेश सरकारों को श्रमिकों की घर वापसी में सहयोग करने को कहा. वहीं अमृतसर में कांग्रेसियों ने रेलवे स्टेशन के बाहर होर्डिंग लगाया है जिसमें लिखा है, ‘अपनी जन्मभूमि वापस भेजने के लिए श्रीमती सोनिया गांधी और कैप्टन अमरिंदर सिंह का हार्दिक आभार.’

दूसरी तरफ बीजेपी ने इसे गंदी राजनीति कहा है. भाजपा के प्रदेश प्रधान अश्विनी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस बेहद गंदी राजनीति पर उतर आई है. श्रमिक संकट के इस काल में अपने परिवार के पास जाना चाहते हैं. लेकिन कांग्रेस इसमें भी वोट की झलक देख रही है. शर्मा ने कहा कि श्रमिकों के किराये में 85 राशि फीसद रेलवे और 15 फीसद राज्य सरकार ने दी है.