गलवान के वीर कर्नल संतोष बाबू की पत्नी संतोषी बनी डिप्टी कलेक्टर, इस राज्य में मिली नियुक्ति

नई दिल्ली। भारत-चीन गतिरोध के बीच गलवान घाटी में पिछले माह झड़प के दौरान वीरगति को प्राप्त हुए कर्नल संतोष बाबू की पत्नी संतोषी डिप्टी कलेक्टर नियुक्त की गई हैं। तेलंगाना सरकार ने उन्हें आधिकारिक रूप से बतौर डिप्टी कलेक्टर नियुक्त किया है। इसके साथ ही उन्हें एक सरकार आवास भी उपलब्ध कराया गया है।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बुधवार को प्रगति भवन में खुद संतोषी को उनका नियुक्ति पत्र सौंपा।

तेलंगाना सरकार ने जारी किया बयान

तेलंगाना सरकार की तरफ से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है,”राज्य सरकार ने भारत-चीन सीमा पर हाल ही में श;ही’द हुए कर्नल संतोष बाबू की पत्नी संतोषी को डिप्टी कलेक्टर नियुक्त किया है।”

बयान के मुताबिक सीएम चंद्रशेखर राव ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे संतोषी को हैदराबाद और इसके आसपास के इलाकों में ही नियुक्त करें। उन्होंने अपनी सचिव स्मिता सभरवाल को संतोषी की तब तक मदद करने को कहा, जब तक वह पूरा प्रशिक्षण नहीं प्राप्त कर लेती हैं। इस दौरान सीएम ने प्रगति भवन में संतोषी के परिवार के 20 सदस्यों के साथ दोपहर का भोजन भी किया।

बता दें कि प्रगति भवन मुख्यमंत्री का अस्थायी कार्यालय-सह-आधिकारिक आवास है। राव ने उन्हें भरोसा दिलाया कि सरकार हमेशा ही कर्नल संतोष बाबू के परिवार के साथ खड़ी रहेगी।

भूखंड भी हुआ आवंटित

इससे पहले, हैदराबाद जिलाधिकारी स्वेता मोहंती और सत्तारूढ़ टीआरएस विधायक जी किशोर कुमार ने संतोषी को पॉश बंजारा हिल में 711 यार्ड वर्ग का भूखंड आवंटन से जुड़ा दस्तावेज भी सौंपा। संतोषी ने मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी को मदद के लिये धन्यवाद दिया। उल्लेखनीय है कि 39 वर्षीय कर्नल भारतीय थल सेना के उन 20 कर्मियों में शामिल थे, जो 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद हो गए थे।