CM योगी बोले- ‘अयोध्या में राम मंदिर बना, काशी में विश्वनाथ तो अब मथुरा-वृंदावन कैसे छूट जाएगा’

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा के चुनाव (UP Election 2022) को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी जुगत में लगी हैं। इसी कड़ी में बुधवार को यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) फर्रुखाबाद पहुंचे।

यहां उन्होंने (CM Yogi Adityanath) जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बना, काशी में विश्वनाथ मंदिर का भव्य निर्माण हो चुका है, तो अब मथुरा-वृंदावन कैसे छूट जाएगा? सीएम ने कहा कि वहां पर भी काम भव्यता के साथ आगे बढ़ चुका है।

सीएम ने कहा कि पिछले साढ़े 4 साल में प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ है। क्योंकि दंगाइयों को मालूम है कि वसूली हो जाएगी। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। क्या बुआ, बबुआ और कांग्रेस मंदिर बनवा सकती थी। राम भक्तों पर गोलियां चलवाने वालों से ये उम्मीद भी न करिए। जो समाज की बेहतरी के लिए काम करेगा, सरकार उसका सम्मान करेगी।

इस दौरान सीएम ने फर्रुखाबाद में 200 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण करते हुए कहा कि विकास के संकल्पों को डबल इंजन की सरकार ने पूरा किया। आज हम बड़े-बड़े प्रोजेक्ट बना रहे हैं। कोरोना काल में वैक्सीन लगवाई। डबल इंजन की सरकार डबल राशन भी दे रही है।

अखिलेश को घेरा, बोले- इसी लिए नोटबंदी का कर रहे थे विरोध

वहीं, इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर छापेमारी में करोड़ों की नकदी बरामद होने पर सपा-बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है। सीएम योगी ने समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पिछले चार दिनों से कैसे दीवारों से नोट निकल रहे हैं।

यही कारण था कि बबुआ नोटबंदी का विरोध कर रहा था। जिले के विकास को आने वाला रुपया कैसे इन लोगों के पास पहुंचता था। सपा की सरकार में एक भी गरीब को आवास नहीं मिला। ये पैसा ही दीवारों से निकल रहा है। बीजेपी ने आवास दिए। सपा सरकार की भावनाएं गरीबों के लिए नहीं थीं।

सपा सरकार में कौरवों का पूरा परिवार वसूली करता था

उन्होंने कहा कि सपा सरकार में नौकरी निकलती थी, तो कौरवों का पूरा परिवार वसूली के लिए निकल पड़ता था। बीजेपी की सरकार बनी तो किसानों का कर्ज माफ किया। बुआ-बबुआ (मायावती-अखिलेश) से पूछिए कि कोरोना संकट में वह लोग कहां थे। हम और हमारे मंत्री कोरोना में लोगों की जान बचाने के लिए घूम रहे थे।