दिल्ली में चीनी नागरिकों को नहीं मिलेगी कोई टैक्सी या कैब, टूर एंड ट्रैवल एसोसिएशन ने लगाया बैन

नई दिल्ली. भारत चीन सीमा विवाद (Indo China Border Dispute) के बीच देश की जनता चीन (China) के खिलाफ आक्रोशित है. इसी का असर दिल्ली के होटलों और गेस्ट हाउस में चीनी नागरिकों को ठहराने से मना करने में देखने को मिला.

अब दिल्ली में टूर एंड ट्रैवल एसोसिएशन ने भी चीनी नागरिकों को बैन कर दिया है. जिसके बाद अब चीनी नागरिकों को टैक्सी की सेवाएं नहीं मिलेंगी.

टूर एंड ट्रैवल एसोसिएशन ने किया बैन

दिल्ली टूर एंड टैक्सी ट्रैवल एसोसिएशन के कमल छिब्बर का कहना है कि हम सभी ने एकमत होकर यह तय किया है कि हम किसी भी चीनी नागरिक को अपनी टैक्सी की सुविधा नहीं देंगे.

ये भी पढ़ें : सामने आए कोरोना वायरस के तीन नए लक्षण, अभी जान लें… शरीर में दिखे बदलाव तो तुरंत कराए जांच

उन्होंने कहा कि इस एसोसिएशन से दिल्ली के 500 से ज्यादा टैक्सी संचालक और टूर एंड ट्रैवल के मालिक जुड़े हुए हैं. इस मामले में सभी हमारे साथ हैं. वहीं कमल ने अपने ऑफिस में चीनी नागरिकों के बैन का एक नोटिस भी लगा दिया है.

पहले ही लग चुका है चीनी एप्स पर प्रतिबंध

इससे पहले भारत ने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है. इनमें टिकटॉक (TikTok) और यूसी ब्राउजर (UC Browser) जैसे ऐप्स शामिल हैं. सरकार ने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्शन 69ए के तहत इन 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगाया है. केंद्र सरकार ने यह कदम ऐसे समय पर उठाया है, जब लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) पर सीमा विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा है.