CDS Bipin Rawat RIP: जनरल बिपिन रावत समेत अन्य सैनिकों को PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि, आज होगा अंतिम संस्कार

नई दिल्ली: CDS Bipin Rawat RIP: पूरा देश शोक में है। गुरुवार को जब भारत के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat ), उनकी पत्नी मधुलिका रावत (Madhulika Rawat), ब्रिगेडियर एल एस लिद्दर और 10 अन्य रक्षा कर्मियों का पार्थिव शरीर पालम हवाई अड्डे पर लाया गया तो वहां मौजूद लोगों की आंखें छलक पड़ीं। माहौल इतना गमगीन था कि टीवी और सोशल मीडिया पर तस्वीरें देख लोग भावुक हो गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और देश के शीर्ष सैन्य अधिकारियों ने एयरपोर्ट जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। पार्थिव शरीर एक सैन्य विमान से दिल्ली लाए गए। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval), सेना प्रमुख एमएम नरवणे (MM Naravane), नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार, एयर चीफ मार्शल ए वी आर चौधरी, रक्षा सचिव अजय कुमार उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने यहां दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

पालम हवाई अड्डे पर हृदय विदारक दृश्य दिखे । एक हैंगर में 13 ताबूत रखे गए थे और इस दौरान परिवार के सदस्य भी मौजूद थे। तमिलनाडु के कुन्नूर के पास एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना (Helicopter Crash) में 13 व्यक्तियों की मौ’त हो गई थी। इस घटना से पूरा देश में शोक में डूब गया। पार्थिव शरीरों को भारतीय वायुसेना के सी-130 जे विमान से दिल्ली लाया गया, जो शाम करीब 7:35 बजे पालम तकनीकी हवाई अड्डे पर उतरा।

श्रद्धांजलि की तस्वीरें शेयर करते हुए पीएम ने लिखा कि भारत उनके योगदान को भी नहीं भूलेगा।

केवल तीन श’वों की पहचान

सैन्य अधिकारियों ने कहा कि अभी तक केवल जनरल रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और ब्रिगेडियर एल एस लिद्दर के पार्थिव शरीरों की पहचान की जा सकी है। उन्होंने कहा कि केवल पहचान किये गए पार्थिव शरीर ही बुधवार को दुखद हेलिकॉप्टर दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों को सौंपे जाएंगे। बाकी पार्थिव शरीरों को सेना के बेस हास्पिटल की मोर्चरी में रखा जाएगा।

शुक्रवार को आम लोग भी दे सकते हैं श्रद्धांजलि

जनरल रावत और उनकी पत्नी के पार्थिव शरीर को शुक्रवार सुबह 11 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक आम जनता के अंतिम दर्शन के लिए उनके 3 कामराज मार्ग स्थित आवास पर रखा जाएगा। दोपहर 12:30 बजे से 1:30 बजे के बीच का समय सैन्य कर्मियों के लिए बिपिन रावत और उनकी पत्नी को श्रद्धांजलि देने के लिए होगा।

जनरल रावत की अंतिम यात्रा उनके आवास से बरार स्क्वायर श्मशान घाट तक अपराह्न करीब 2 बजे शुरू होगी। अंतिम संस्कार शाम 4 बजे निर्धारित है। ब्रिगेडियर लिद्दर का अंतिम संस्कार सुबह नौ बजे किया जाएगा।

जनरल रावत, उनकी पत्नी और ब्रिगेडियर लिद्दर के अलावा, एमआई-17 वी5 हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सशस्त्र बल के 10 जवानों की मृत्यु हो गई थी। यह हेलीकॉप्टर दुर्घटना गत कुछ दशकों में भारत में हुई बड़ी हवाई दुर्घटनाओं में से एक है जिनमें वरिष्ठ सैन्य अधिकारी सफर कर रहे थे।

दुर्घटना में मारे गए अन्य कर्मियों में लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर पी एस चौहान, स्क्वाड्रन लीडर के सिंह, जेडब्ल्यूओ दास, जेडब्ल्यूओ प्रदीप ए, हवलदार सतपाल, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार और लांस नायक साई तेजा शामिल हैं। इस दुर्घटना में एकमात्र जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का बेंगलुरु के सैन्य अस्पताल में इलाज चल रहा है।