‘गलत भाषा’ के लिए कंगना रनौत के खिलाफ केस, सोशल मीडिया पर छाया ‘तू बनाम हरा..खोर’

New Delhi: पिछले कुछ दिनों से शिवसेना नेता संजय राउत (Shivsena leader Sanjay Raut) और अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बीच छिड़ी जुबानी जं’ग इस हद तक पहुंच गई कि बॉलिवुड ‘क्वीन’ के दफ्तर पर बीएमसी का बुलडोजर चल गया।

शिवसेना (Shivsena) कहती रही कि BMC की कार्रवाई का हालिया तीखी जुबानी जं’ग से कोई लेना-देना नहीं लेकिन सामना में ‘उखाड़ दिया’ हेडिंग से बुलडोजर वाली खबर सारी कहानी खुद ही बयां कर रही है।

भड़की कंगना (Kangana Ranaut) ने सीधे-सीधे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के लिए तू-तड़ाक का इस्तेमाल करते हुए हम’ला बोला और उनकी बिसात ‘वंशवाद के नमूने’ भर की करार दिया। इस पर उनके खिलाफ केस भी दर्ज हो गया। अब सोशल मीडिया पर भी संग्राम छिड़ा हुआ है।

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के लिए ‘गलत भाषा’ के इस्तेमाल को लेकर विक्रोली थाने में कंगना (Kangana Ranaut) के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। इसे लेकर ट्विटर पर कई यूजर्स न सिर्फ खुलकर कंगना का सपोर्ट कर रहे हैं बल्कि ‘तू’ के लिए केस दर्ज होने पर हैरानी जता रहे हैं। इनमें आम ट्विटर यूजर्स से लेकर सिलेब्रिटी तक हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं कि कंगना (Kangana Ranaut) के किस बयान पर उनके खिलाफ केस दर्ज हुआ। दरअसल अपना दफ्तर तोड़े जाने के बाद कंगना ने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर हम’ला करते हुए ट्वीट किया था, ‘तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे मगर मेरी आवाज़ मेरे बाद सौ फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाज़ें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हों सिर्फ़ वंशवाद का एक नमूना हो।’

https://twitter.com/KanganaTeam/status/1303907726653755392

लेखक सुहेल सेठ ने लिखा, ‘तो मुंबई में ‘तू’ एक गा’ली है और हर..खोर जिसे नॉटी भी कहा जा रहा है, एक शहद जैसा शब्द है! मूर्ख कितने सेल्फ गोल करेंगे? कंगना को कुछ करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जब कोई इतना ज्यादा मूर्ख हो तो उसे वैसे ही छोड़ देना चाहिए।’

सेठ के ट्वीट में संजय राउत की उस गा’ली का संदर्भ था, जिसे उन्होंने कंगना को दी थी। बाद में सफाई देते हुए शिवसेना नेता ने कहा था कि वह शब्द नॉटी के लिए इस्तेमाल होता है।

फिल्म अभिनेत्री कोएना मित्रा ने भी ‘तू’ शब्द के इस्तेमाल पर केस दर्ज होने को लेकर तं’ज कसा, ‘तू आप’त्ति’जनक है, हरा..खोर नहीं। डूब जाने दो।’

छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री दिवंगत नेता अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने तो कंगना की तुलना एक तरह से रानी लक्ष्मीबाई से कर दी। जनता कांग्रेस के नेता ने कंगना के हौसले को भी सलाम किया।

कुछ यूजर्स ने इसके बहाने फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप की बदजुबानी का मुद्दा भी उठा दिया।

कभी कांग्रेस नेता रहे लेकिन अब उसके कट्टर आलो’चक शहजाद पुनावाला ने ट्वीट कर मुंबई पुलिस से कहा कि उद्धव ठाकरे के लिए अगर ‘तू’ और ‘गलत भाषा’ को लेकर कंगना के खिलाफ केस दर्ज हो सकता है तो राहुल गांधी के खिलाफ भी केस दर्ज कीजिए क्योंकि उन्होंने पीएम मोदी के लिए ‘तू’ और ‘चोर’ शब्द का इस्तेमाल किया है।

‘शूटर दादी’ चंद्रो तोमर ने तो कंगना के खिलाफ केस दर्ज होने को एक तरह से हास्यास्पद करार दे दिया। उन्होंने लिखा कि अगर तू पर लोग बुरा मानने लगे तो पूरा बागपत जिला जे’ल में मिलेगा।