चीन-पाक से टेंशन के बीच IAF की बढ़ी ताकत, बोइंग ने भारत को सौंपे 15 चिनूक और 22 अपाचे हेलीकॉप्टर

0
473
Chinook-Apache
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली। चीन और पाकिस्तान के साथ जारी तनाव के बीच भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ गई है. दरअसल, अमेरिकी कंपनी बोइंग ने भारत को सभी 22 अपाचे और 15 चिनूक हेलिकॉप्टर सौंप दिए हैं. भारत के अलावा 16 अन्य देश अपाचे हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं.

सबसे खास बात है कि पूरे विश्व में अमेरिका के अलावा भारत के पास ही इसका सबसे उन्नत वर्जन AH-64E है. इस हेलीकॉप्टर में नेविगेशन, उन्नत हथियारों को ले जाने की क्षमता, नई संचार प्रणाली, ओपन सिस्टम आर्किटेक्चर की सुविधा है.

20 देशों के पास है चिनूक

दुनियाभर में 20 देशों की सेनाएं चिनूक हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल कर रही हैं. यह विश्व का सबसे अधिक विश्वसनीय और क्षमतापूर्ण हैवी लिफ्ट हेलिकॉप्टर है. तकरीबन 50 साल से इस लाजवाब हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें : कोरोना संकट के बीच टमाटर हुआ लाल, कई शहरों में 80 रुपये किलो तक पहुंचा दाम

अधिक ऊंचाई हो या फिर गर्म जगह, चिनूक कहीं भी उड़ान भरने में सक्षम है. इसमें मॉडर्न एयरफ्रेम, कॉमन एवियोनिक्स आर्किटेक्चर सिस्टम कॉकपिट और डिजिटल ऑटोमैटिक कंट्रोल सिस्टम होता है. यह सेना की ताकत बढ़ाने के लिए एक कारगर हेलिकॉप्टर है. सबसे खास बात यह है कि चिनूक पानी में भी तैर सकता है.

दुनिया का सबसे तेज फाइटर हेलीकॉप्टर है अपाचे

350 किमी/ प्रति घंटे से ज्यादा रफ्तार से उड़ान भरने वाला अपाचे एक फाइटर हेलिकॉप्टर है. पिछले साल ही इसे वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया. पूरी दुनिया में यह हेलीकॉप्टर अपनी मा;र’क क्षमता के लिए मशहूर है. इसमें आधुनिक टारगेट एक्विजिशन डेसिग्नेशन सिस्टम है जो मौसम की जानकारी भी देता रहता है. अपाचे अंधेर में देखने की क्षमता रखता है जो कि सेना के लिए बहुत मददगार है. समुद्र के ऊपर उड़ान भरने और ऑपरेशन करने में भी यह सक्षम है.