BJP का बड़ा फैसला, पार्टी में नहीं होगा भाई-भतीजावाद… नड्डा बोले- अब ‘पार्टी में एक व्यक्ति, एक पद’

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (BJP) में अब पूरी तरह से भाई-भतीजावाद खत्म होने जा रहा है. इसके लिए पार्टी जल्द ही ‘एक व्यक्ति, एक पद’ के सिद्धांत पर अमल करने जा रही है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जल्द ही इसकी घोषणा करेंगे.

बताया ये भी जा रहा है कि नड्डा पार्टी और अपनी नई टीम में युवा चेहरों को मौका दे सकते है. इसके साथ ही पार्टी की संसदीय टीम में रिक्त हुए 4 स्थानों पर नए चेहरे दिखेंगे.

पार्टी में दिखेंगे बदलाव

नई टीम में काफी बदलाव होने की संभावना है. इसमें युवाओं को ज्यादा तरजीह दी जाएगा. साथ ही जो नेता संगठन में काम करेंगे वे सरकार में शामिल नहीं होंगे. ऐसे में कुछ नेताओं को संगठन से सरकार में भेजा जा सकता है और कुछ नेता सरकार से संगठन में भी आएंगे.

कोरोना की वजह से नहीं हुआ टीम का गठन

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा को पार्टी की कमान संभाले करीब चार महीने हो चुके हैं, लेकिन अभी तक उनकी टीम नहीं बन पाई. इसकी एक वजह कोरोना रहा, जिसने सारी व्यवस्थाओं को बदल दिया. अब संगठन को सुचारू ढंग से चलाने के लिए तेजी लाई जा रही है. पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, राष्ट्रीय टीम का खाका तैयार हो चुका है और इसे जल्द ही जारी किया जाएगा.

संसदीय बोर्ड में भी होंगे बदलाव

राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ नया केंद्रीय संसदीय बोर्ड और कार्यकारिणी की घोषणा की जाएगी. संकेत हैं कि संगठन में संविधान के अनुसार पद भरे जाएंगे. इस बारे में स्थिति साफ नहीं है कि पदाधिकारियों में 33 फीसदी महिलाओं को शामिल किया जाएगा या नहीं. हालांकि यह बात साफ कर दी गई है कि संगठन के पास कई युवा नेता हैं और ‘एक व्यक्ति, एक पद’ के सिद्धांत पर अमल किया जाएगा.

ये भी पढ़ें : 59 चीनी ऐप्स के बाद अब 89 ऐप्स पर बैन! भारतीय सेना ने लिस्ट जारी कर कर्मियों से कहा- करें डिलीट

पार्टी के संसदीय बोर्ड में अभी बड़े बदलाव होंगे। संसदीय बोर्ड में चार पद रिक्त हैं. इनमें वेंकैया नायडू उपराष्ट्रपति बन चुके हैं, जबकि अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और अनंत कुमार का निधन हो चुका है. ऐसे में नए संसदीय बोर्ड का स्वरूप काफी बदला हुआ होगा.