सीएम चन्नी बोले- अपने पद की गरिमा का ध्यान नहीं रख रहे मोदी, अपना रहे सस्ते हथकंडे

डेस्क: पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले की सुरक्षा में चूक (PM modi Security Breach) के बाद अब सियासत तेज हो गई है। बता दें कि भाजपा और कांग्रेस (Bjp vs Congress) एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

जहां भाजपा नेताओं का कहना है कि यह साजिश (PM modi Security Breach) के तौर पर हुआ है तो वहीं कांग्रेसी नेता इसे नौटंकी करार दे रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने इसे सस्ता चुनावी हथकंडा बताया है।

‘पीएम की जान को कोई खतरा नहीं’

चन्नी ने 6 जनवरी गुरुवार को आरोप लगाया कि पीएम की इस “जानलेवा नौटंकी” का उद्देश्य पंजाब की लोकतांत्रिक सरकार को गिराना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री देश के एक सम्मानित नेता हैं लेकिन कद के हिसाब से उन्हें यह ‘घटिया नौटंकी’ शोभा नहीं देती। उन्होंने कहा कि पीएम की जान को कोई खतरा नहीं है।

लुधियाना के मच्छीवाड़ा में एक कार्यक्रम में चन्नी ने गुरुवार को कहा कि अगर अधिकारियों को मोदी की सुरक्षा का खतरा महसूस हुआ था तो पीएम के करीब खुफिया अधिकारी क्या कर रहे थे?

सोनिया गांधी ने की चन्नी से बात

बता दें कि पीएम मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले के 24 घंटे बाद कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी से बात की और कहा कि मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं, इसलिए उनकी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए। सोनिया गांधी ने कहा कि इस चूक में जो भी दोषी हों उनपर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा पीएम के इस दौरे को लेकर सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त किए जाने चाहिए थे।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने किया पलटवार

सोनिया के बयान के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि देर से जागी ये राजनीतिक आत्मा देश का आक्रोश देख रही थी। जनता की प्रार्थना, जनता की चिंता को देखकर सोनिया गांधी का ये कथन सामने आया है। उन्होंने कहा कि कम से कम सोनिया जी ने इस बात को स्वीकारा की दोषी कांग्रेस की प्रदेश सरकार और प्रशासन है। कहीं ऐसा तो नहीं मोहरे को इस प्रकार का आदेश देकर परिवार ने अपना पल्ला झाड़ लिया है।

इसके अलावा भाजपा की पंजाब में सहयोगी पंजाब लोक कांग्रेस के प्रमुख व राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने भी चन्नी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर चन्नी सरकार को जिम्मेदार माना है और राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पंजाब में राष्ट्रपति शासन लगाया जाये।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.