BJP का बड़ा ऐलान, गहलोत सरकार के खिलाफ लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

New Delhi: राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Govt) पर सियासी संकट (Rajasthan Political Crisis) खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे की वापसी के बाद अब BJP सरकार के खिलाफ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव (No Confidence Motion) लेकर आएगी।

शुक्रवार से शुरू होने जा रहे विधानसभा सत्र में BJP की ओर से अविश्वास प्रस्ताव (No Confidence Motion) लाने का ऐलान किया है। विपक्ष की इस चुनौती के बाद अब गहलोत सरकार को सरकार (Ashok Gehlot Govt) बचाने के लिए फ्लोर टेस्ट (Floor Test) में बहुमत साबित करना होगा।

BJP के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Punia) ने बताया कि कांग्रेस सरकार अपने विरोधाभास से गिरेगी। पिछले एक महीने से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) बीजेपी पर यह झूठा आरोप लगा रहे हैं। लेकिन कांग्रेस दो फाड़ हो चुकी है और इनके आपस की अदावत से ही सरकार गिरेगी।

विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने गुरुवार को पार्टी की बैठक के बाद इसकी घोषणा की है। उधर, नेता गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि ये सरकार अब जल्द गिरने वाली है क्यों कि कांग्रेस अपने घर में टांका लगाकर कपड़े को जोड़ना चाह रही है, लेकिन कपड़ा फट चुका है।

वसुंधरा राजे भी शामिल हुई बैठक में

भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल की बैठक में गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी शामिल हुईं। जबकि केंद्रीय नेतृत्व की ओर से प्रतिनिधि ने भी बैठक में मौजूद रहे। इससे पहले राजनीतिक गलियारों में बीजेपी में गुटबाजी की खबरें सुर्खियां बनी थीं। हालांकि इस बैठक में सभी नेता एकजुट नजर आए और इस एकजुटता और अविश्वास प्रस्ताव के ऐलान ने गहलोत खेमे में परेशानी बढ़ा दी है।

पायलट की ‘घर वापसी’ लेकिन मुलाकात नहीं

अशोक गहलोत से बगावत करने वाले विधायकों की दो दिन पहले ‘घर वापसी’ तो हो चुकी है लेकिन फिलहाल गहलोत और पायलट की मुलाकात नहीं होने भी राजनीतिक हलकों में चर्चा का विषय बना हुआ है। बताया जा रहा है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर मंडरा रहा संकट अभी टला नहीं है। अभी पायलट गुट को साथ लेने और फ्लोर टेस्ट में उनकी असली परीक्षा बाकी है।

बता दें कि राज्यपाल कलराज मिश्र ने एक आदेश जारी कर 15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र शुक्रवार सुबह 11 बजे आहूत किया है। इस बाबत विधानसभा सचिवालय के सचिव प्रमिल कुमार माथुर की ओर से राजस्थान राजपत्र में अधिसूचना भी प्रकाशित कराई गई है।