Bihar Election से पहले Tejashwi Yadav, Tej Pratap Yadav और Pappu Yadav के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है वजह

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election) की घोषणा के एक दिन बाद ही राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के खिलाफ केस दर्ज हुआ है. इसके अलावा सांसद पप्पू यादव के खिलाफ भी एक केस दर्ज किया गया है.

दरअसल, कृषि बिल के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कानून तोड़ने पर इन तीनों नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

क्या है मामला

शुक्रवार को कृषि बिल के विरोध में सभी विपक्षी दलों ने भारत बंद का ऐलान किया था. बिहार में भी विपक्षी दल इस बंद का समर्थन करने सड़कों पर उतरे. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) राजद के कार्यकर्ताओं के साथ 10 सर्कुलर रोड से ट्रैक्टर चलाकर राजद कार्यालय पहुंचे. तेजस्वी (Tejashwi Yadav) और तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) 10 सर्कुलर से बेली रोड होते राजद कार्यालय पहुंचे जो प्रतिबंधित क्षेत्र है.

ये भी पढ़ें : बड़ी खबर! नहीं रहे मशहूर सिंगर बाला सुब्रमण्‍यम, कोरोना से हार गए जिंदगी की जं’ग

वहीं दूसरी ओर जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने भी अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओ के साथ इनकम टैक्स से ट्रैक्टर चलाते हुए डाकबंगला चौराहा तक किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन किया. इनकम टैक्स से लेकर डाकबंगला चौराहा भी प्रदर्शकारियों के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र है. इसी वजह से पटना के कोतवाली थाना में तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav), तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) और पप्पू यादव (Pappu Yadav) समेत 100 लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है.

किन धाराओं के तहत दर्ज हुआ मामला

पटना के कोतवाली थाना में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और 353 के तहत मामला दर्ज हुआ है. इसमें प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रदर्शन करना और कोरोना काल में बिना किसी अनुमति के 100 से ज्यादा लोगों के साथ सड़क पर उतरना शामिल है.