बिहार चुनाव में टिकट कटने से नाराज BJP विधायक Chokar Baba ने आजीवन अन्न त्यागा

छपरा. अमनौर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा (Shatrughan Tiwari aka Chokar Baba) का टिकट क्या कटा अमनौर की राजनीति में भूचाल आ गया. विधायक ने टिकट कटने के बाद अब आजीवन अन्न ग्रहण न करने की बात कही है और सिर्फ फलाहार पर रहने की घोषणा की है. 

अलायंस के भीतर टिकट वितरण में अक्सर पार्टियों को अपनी परंपरागत सीटें भी छोड़नी पड़ती हैं, लेकिन विधायक के विरोध का यह तरीका हैरानी में डालने वाला है. हालांकि, विधायक का इस बारे में अपना अलग ही तर्क है.

सांसद और मंत्रियों को सुनाई खरी खोटी

स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रूडी के गृह क्षेत्र अमनौर में टिकट कटने के बाद चोकर बाबा (Chokar Baba) ने सांसद को निशाने पर ले लिया और जमकर खरी-खोटी सुनाई. विधायक चोकर बाबा (Chokar Baba) के निशाने पर मंगल पांडे और सुशील मोदी भी रहे.

उनके ऊपर चोकर बाबा ने टिकट काटने का आरोप लगाया. उन्‍होंने कहा कि उनकी लोकप्रियता से परेशान होकर इन नेताओं ने मिलकर उनका टिकट कटवा दिया, जिसके कारण उन्होंने आजीवन फलाहार पर रहने का निर्णय लिया है.

जिसे हराया, पार्टी ने उसे दिया टिकट

चोकर बाबा (Chokar Baba) का कहना है कि भाजपा ने उसे ही टिकट दिया जिसे उन्होंने हराया था. विधायक ने कहा कि वह सिटिंग विधायक हैं और चुनाव की तैयारियों में जुटे हुए थे. क्षेत्र की जनता के बीच में लगातार बाढ़ में भी काम कर रहे थे. उनके द्वारा चलाई गई रसोई से हजारों लोगों को भोजन मिला जिसके कारण क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता लगातार बढ़ी. यही बात सांसद को खटकने लगी जिसके कारण उनका टिकट कटवा दिया गया.

ये भी पढ़ें: Chara ghotala: चाईबासा केस में Lalu Yadav को मिली जमानत, लेकिन जेल में ही रहना पड़ेगा

नाराज चोकर बाबा (Chokar Baba) ने कहा कि वह संन्यासी की जिंदगी जीते हैं और अपना विरोध वह संन्यासी की तरह ही प्रकट करेंगे. साथ ही उन्‍होंने घोषणा कर दी कि वह आजीवन अन्न का सेवन नहीं करेंगे, सिर्फ फल पर रहेंगे. उन्होंने पार्टी पर आंतरिक लोकतंत्र के खत्म होने का भी आरोप लगाया.