Ban on Strike in UP: यूपी में 6 महीने तक हड़ताल पर लगा प्रतिबंध, सीएम योगी ने लिया कड़ा फैसला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में अगले 6 महीने के लिए हड़ताल पर बैन (Ban on Strike in UP) लगा दिया है। योगी सरकार के फैसले के बाद अपर मुख्य कार्मिक सचिव डॉ. देवेश कुमार चतुर्वेदी ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है।

अधिसूचना में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश के राज्य कार्य-कलापों से संबंधित किसी लोक सेवा, निगमों और स्थानीय प्राधिकरणों में हड़ताल पर प्रतिबंध (Ban on Strike in UP) लगाया जा रहा है। इसके बाद भी हड़ताल करने वालों के खिलाफ विधिक व्यवस्था के तहत कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले भी यूपी सरकार ने इसी साल मई में छह महीने के लिए हड़ताल पर प्रतिबंध लगाया था।

ये भी पढ़ें : मथुरा में बोले मुख्यमंत्री योगी: आयकर के छापों से सपा को पीड़ा… चोर की दाढ़ी में तिनका

राज्य में एम्सा एक्ट लागू

बता दें कि सीएम योगी ने कोरोना की समस्याओं को देखते हुए राज्य में एम्सा एक्ट लागू करके हड़तालों पर बैन (Ban on Strike in UP) लगा दिया था। योगी सरकार के इस फैसले के बाद लोक सेवाएं, प्राधिकरण, निगम समेत सभी सरकार विभागों में काम कर रहे कर्मचारियों की ओर से समय-समय पर होने वाली हड़ताल पर रोक लगा दी गई थी। अधिनयिम 1966 के तहत यूपी सरकार की ओर से लागू किए गए एस्मा एक्ट को राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद लागू किया जाता है। एम्सा एक्ट प्रदर्शन और हड़ताल करने वालों के लिए बनाया है।

एम्सा लागू होने के बाद प्रदेश में कहीं भी प्रदर्शन या हड़ताल पूरी तरह बैन कर दिए जाते हैं। इस एक्ट को पिछले साल यूपी सरकार ने लागू किया था, जिसे पिछले साल भी नवंबर में छह महीने के लिए आगे बढ़ाया गया था। एस्मा एक्ट लगने के बाद भी अगर कोई कर्मचारी हड़ताल या प्रदर्शन करते पाया जाता है तो हड़ताल करने वालों को एक्ट (Ban on Strike in UP) का उल्लंघन के आरोप सरकार की ओर से बिना वारंट के गिरफ्तार करके कानूनी कार्रवाई की जाती है।