ये मुस्लिम मुल्क है… कहकर बुर्का पहनी महिला ने तोड़ी भगवान गणेश की मूर्ति, वायरल हुआ वीडियो

0
432
Berain viral video
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्‍ली। सोशल मीडिया पर बुर्का पहनी एक महिला का वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में बुर्का पहनी यह महिला एक दुकान में रखी भगवान गणेश की मूर्तियों को तोड़ती दिख रही है। वीडियो में बुर्का पहने दो महिलाओं को पास में खड़े देखा जा सकता है। उनसे सटे ही हिंदू देवताओं (खासकर भगवान गणेश की) की मूर्तियाँ एक रैक पर रखी हुई हैं।

दोनों महिलाओं में से एक वहां रखी मूर्तियों को एक-एक कर उठाती है और फिर उन्हें फर्श पर फेंक कर तोड़ती जाती है।

किसी मॉल का है ये वीडियो

यह घटना बहरीन के एक सुपरमॉर्केट की बताई जा रही है। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हिंदू समुदाय में खासी नाराजगी देखने को मिल रही है। वीडियो मनामा के जाफेयर मार्केट की है, जहां बुर्के में खरीदारी कर रही दो महिलाओं ने जमकर उत्पात मचाया।

महिला बोली- यह मोहम्मद बिन ईसा का देश

महिला को अरबी में सुपरमॉर्केट के एक कर्मचारी पर चिल्लाते हुए सुना जा सकता है। महिला ने मुस्लिम देश में बेची जा रही गणपति की मूर्तियों पर आपत्ति जताते हुए कहा कि यह मोहम्मद बिन ईसा का देश है, क्या आपको लगता है कि उन्होंने इसे मंजूरी दी है?

जिसके बाद दुकान का कर्मचारी कहता है कि हम मानते हैं कि यह मुस्लिम देश है। इस पर दूसरी महिला कहती है कि हम देखते हैं कि इन मूर्तियों की पूजा कौन करेगा। पुलिस को बुलाओ। बहरीन एक मुस्लिम देश है, जहां इस्लाम को मानने वाले बहुसंख्यक हैं।

गृह मंत्रालय ने महिला को भेजा समन

घटना के बाद बहरीन के गृह मंत्रालय ने एक बयान जारी किया। बयान के अनुसार स्थानीय पुलिस ने 54 वर्षीय महिला को जानबूझकर एक दुकान में धार्मिक मूर्तियों को तोड़ने के लिए समन किया है। मंत्रालय ने कहा है कि इस मामले में कानूनी कार्यवाही चल रही है और दोष सिद्ध होने पर सख्‍त कार्रवाई होगी।

दूसरी तरफ बहरीन पुलिस ने गणपति की मूर्तियों को तोड़ने वाली महिला के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की है। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, 54 वर्षीय महिला पर एक समुदाय की धार्मिक भावनाओं और अनुष्ठानों का अपमान करने का आरोप लगाया गया है। बहरीन के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि पुलिस ने एक दुकान को नुकसान पहुंचाने और एक संप्रदाय और उसके अनुष्ठानों को बदनाम करने के लिए महिला के खिलाफ कानूनी कदम उठाए हैं।