मौ;त के दरवाजे से लौटे कोरोना संक्रमित आयुष मंत्री श्रीपद नाइक, PM ने फोन कर कहा-कोई कमी ना रहे

0
868
PM Modi Shripad Naik
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली। कोरोना से संक्रमित केद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद नाइक बाल-बाल बच गए। फिलहाल उनकी प्लाज्मा थेरेपी शुरू की जा चुकी है। नाइक के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद पहली बार गोवा सरकार ने माना कि उनकी हालत बेहद नाज़ुक थी और वे मौ;त के मुंह से वापस आए हैं।

गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने मीडिया से कहा, नाइक जी मृ;त्यु के दरवाजे से लौटे हैं। डॉक्टरों ने कहा कि नाइक अब स्थिर है और निजी मनीपाल अस्पताल में भर्ती है। उन्हें 12 अगस्त को कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था और 14 को भर्ती किया गया था।

प्लाज्मा थेरेपी लेने वाले पहले वीवीआईपी

मंत्री ने ट्वीट कर लिखा ‘रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है, बाकी सब कुछ सामान्य है और मैं होम आइसोलेशन में हूँ।’ नाइक का इलाज करने वाली टीम के डॉक्टरों के अनुसार, वह प्लाज्मा उपचार लेने वाल पहले वीवीआईपी हैं।

PM मोदी ने खुद किया फोन

डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से एक फोन कॉल भी आया था। जिसमें उन्होने कहा था कि कोई कमी नहीं रहना चाहिए, नायक का अच्छे से अच्छा इलाज किया जाना चाहिए।

एक अधिकारी ने कहा, दूसरों की तरह, नाइक को पहले रेमेडिसविर की एक खुराक दी गई थी, हालांकि यह इससे कोई ज्यादा सुधार नहीं दिखा। उनकी हालत खराब होने लगी, ऑक्सीजन लेवल 92 प्रतिशत तक गिर गई।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि नाइक को सोमवार को पहली प्लाज़्मा थेरेपी दी गई। जिसके बाद उनका ऑक्सीजन लेवल 96 तक पहुंच गया।

एम्स के 3 डॉक्टरों की टीम कर रही निगरानी

दिल्ली एम्स के तीन डॉक्टरों की एक टीम उन पर नजर रखे हुए है। गोवा में पूर्व मुख्यमंत्री रवि नाइक सहित तीन अन्य नेताओं को भी कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तीनों को स्थिर बताया गया है।

इस बीच एक अधिकारी ने बताया ‘गोवा मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) ने रिकवर हुए मरीजों से प्लाज्मा लेने के प्रयासों को बढ़ाया है। क्योंकि अस्पताल में प्लाज्मा की कमी है।’ गोवा मेडिकल कॉलेज राज्य में कोरोना का इलाज़ करने वाले मुख्य अस्पतालों में से एक है।