मुसलमान याद रखेंगे…कौन बचाएगा तुम्हे? ओवैसी की ‘धमकी’ पर सियासत तेज, AIMIM चीफ ने दी सफाई

नई दिल्ली: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर सियासत शुरू हो गई है।

वीडियो उनके भाषण की एक क्लिप है जिसमें वह कह रहे हैं कि समय बदलेगा। इस वीडियो के वायरल होने के बाद ओवैसी ने भी सफाई दी और कहा कि उनके वीडियो का गलत मतलब निकाला जा रहा है।

ओवैसी का जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें वह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं। ‘याद रखो, हमेशा योगी मुख्यमंत्री नहीं रहेगा, मोदी हमेशा नहीं रहेगा। हम मुसलमान वक्त के चलते खामोश जरूर हैं लेकिन भूलेंगे नहीं। हम याद रखेंगे, हालात बदलेंगे…तब कौन बचाने आएगा तुमको, जब योगी मठ में चले जाएंगे, मोदी पहाड़ों में चले जाएंगे’

‘सांप्रदायिक बयानों के संदर्भ में था भाषण’

ओवैसी ने कहा कि उन्होंने जो भाषण दिया वह हरिद्वार में तीन दिवसीय ‘धर्म संसद’ के दौरान अल्पसंख्यक समुदायों के खिलाफ कथित भड़काऊ और सांप्रदायिक बयानों के संदर्भ में था।

कपिल मिश्रा ने साधा निशाना

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा, ‘ओवैसी जो कह रहा है वह कर चुका है। ओवैसी जो कह रहा है उसे गम्भीरता से लेने की जरूरत हैं यही अब डायरेक्ट एक्शन डे के दिन हुआ था, कोलकाता में , लाहौर, रावलपिंडी, में और अभी 30 साल पहले कश्मीर में यही किया गया। मोदी योगी हटे- हिन्दू कटे ये सब इसी इंतजार में हैं।’

‘सियारों से नहीं डरते शेरों के बच्चे’

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा शेर के बच्चे अगर सियारों से डरेंगे तो सोचिएगा तो वह कैसे जंगल में रह पाएंगे। बीजेपी सबका साथ सबका विकास की राजनीति करते हैं। दाग ढूंढते रह जाओगे कि तरह चुनाव के बाद ओवैसी को ढूंढते रह जाओगे।

‘…तो आप कहां जाएंगे’

उत्तर प्रदेश के मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी लगातार बहुसंख्यक को धमकाने का काम कर रहे हैं। यह अफगानिस्तान नहीं जहां तालिबान आ जाएगा। अगर वह आता है तो देश में मोदी और राज्य में योगी हैं। अगर बहुसंख्यक अपने आप पर आ गया तो आप कहां जाएंगे?

‘ ना डरे थे मुगलों से ना जिन्नावादियों से तो तुमसे क्या खाक डरेंगे’

बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘किसे धमका रहे हो मियां? याद रखना जब-जब इस वीर भूमि पर कोई औरंगजेब और बाबर आएगा तब-तब इस मातृभूमि की कोख से कोई ना कोई वीर शिवाजी, महाराणा प्रताप और मोदी-योगी बन खड़ा हो जाएगा। सुनों हम ना डरे थे मुगलों से ना जिन्नावादियों से तो तुमसे क्या खाक डरेंगे!’

ओवैसी ने ट्विटर पर पोस्ट किया पूरा भाषण

ओवैसी ने कहा, ‘कानपुर में मेरे द्वारा दिए गए 45 मिनट के भाषण से एक मिनट का एक क्लिप वीडियो प्रसारित किया जा रहा है। मैंने अब अपना पूरा भाषण ट्विटर पर साझा किया है। मेरे भाषण का संदर्भ बिल्कुल स्पष्ट है। मैं उन पुलिस वालों के बारे में बात कर रहा था जो 80 साल को प्रताड़ित करते हैं- मैं उन पुलिस वालों की बात कर रहा था जो चुपचाप देखते हैं क्योंकि भीड़ एक रिक्शा चालक को उसकी बेटी के सामने पीटती है। साथ ही, लाठी बरसाने वाले पुलिस वाले एक आदमी को पीटते हैं, जिसकी गोद में बच्चा होता है।’

‘आपत्तिजनक कुछ भी नहीं कहा’

हैदराबाद के सांसद ने आगे कहा, ‘मैंने कहा था कि हम इन पुलिस अत्याचारों को याद रखेंगे। क्या यह आपत्तिजनक है? यह याद रखना आपत्तिजनक क्यों है कि पुलिस ने यूपी में मुसलमानों के साथ कैसा व्यवहार किया है? हम उस उत्पीड़न को नहीं भूल सकते जो अनस, सुलेमान, आसिफ, फैसल, अल्ताफ, अखलाक, कासिम और सैकड़ों अन्य के साथ क्या हुआ?’

ओवैसी ने स्पष्ट किया, ‘मैंने हिंसा भड़काने का प्रयास नहीं किया या धमकी नहीं दी। मैंने पुलिस अत्याचारों के बारे में बात की है। असदुद्दीन ओवैसी अपने भाषण में हरिद्वार में जिस कार्यक्रम का जिक्र कर रहे थे, उसमें कई हिंदू धार्मिक नेताओं ने भाग लिया था। जिन्होंने कथित तौर पर समुदाय से मुसलमानों के खिलाफ हथियार उठाने का आह्वान किया क्योंकि वह एक ‘हिंदू राष्ट्र’ चाहते हैं।