राहुल गांधी बोले- हिंदुओं की होगी सत्ता में वापसी, भड़के ओवैसी, कहा- सिर्फ हिंदुओं का नहीं भारत

नई दिल्ली: राजस्थान (Rajasthan) की राजधानी जयपुर (Jaipur) में हुई कांग्रेस की रैली में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के भारत को हिंदुओं का देश बताने और हिंदू बनाम हिंदुत्व की नई परिभाषा पर विवाद हो गया है। वहीं, BJP के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने राहुल गांधी और कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा कि हिंदुओं को सत्ता में लाना 2021 का सेक्युलर एजेंडा है। भारत केवल हिंदुओं का नहीं बल्कि सभी भारतीयों का है। साथ ही भारत सभी धर्मों के लोगों का है और उनका भी जिनका कोई विश्वास नहीं है। वहीं, रविवार देर रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सफाई देने के अंदाज में ट्वीट किया।

दरअसल, ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बयान के बाद ट्वीट करते हुए लिखा कि राहुल और कांग्रेस हिंदुत्व के लिए ग्राउंड तैयार कर रहे हैं। हालांकि अब वे बहुसंख्यक वाद की फसल काटना चाहते हैं। वहीं, 2021 में हिंदुओं को सत्ता में लाने का सेक्युलर एजेंडा है, वाह भारत सब भारतीयों का है, अकेले हिंदुओं का नहीं है। भारत सभी मत-मतांतरों को मानने वालों और नहीं मानने वालों का भी देश है। बता दें कि राहुल गांधी के इस बयान के बाद एक बार फिर से हिंदुत्व पर बहस तेज हो गई है। हालांकि कई संगठन इस बयान को लेकर उनकी आलोचना भी कर रहे हैं।

हिंदू नहीं करते हैं किसी से नफरत- सीएम गहलोत

बता दें कि सीएम अशोक गहलोत ने हिंदू वाले बयान पर सफाई देते हुए कहा कि – सत्य, अहिंसा, प्यार, भाईचारा और सहिष्णुता को मानने वाला व्यक्ति हिंदू है। यदि हिंदू किसी से नफरत नहीं करते और सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। वहीं, हिन्दुत्ववादी हिंसा, असहिष्णुता और घृणा फैलाने में भरोसा रखते हैं। ऐसे में हिंदू और हिन्दुत्ववादी में वही अंतर है, जो गांधीजी और गोडसे में था।

इसके साथ ही गहलोत ने लिखा है कि सही मायने में हिंदू सत्य,अहिंसा और सद्भाव में विश्वास रखता है। वहीं, कट्टरता और चरमवाद किसी भी धर्म में स्वीकार्य नहीं है। ऐसे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की सोच है कि हिन्दू धर्म के मूल स्वरूप को बिगाड़कर हिन्दुत्ववाद के नाम पर BJP-RSS द्वारा की जा रही नफरत और हिंसा की राजनीति का देशहित में अंत होना चाहिए।

कई प्रदेशों में मु​स्लिम कांग्रेस का हैं परंपरागत वोट

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पहली बार कहा कि यह देश हिंदुओं का देश है। वहीं, हिंदुत्ववादियों का नहीं। इस दौरान ओवैसी ने इसी को मुद्दा बनाते हुए मुस्लिम-अल्पसंख्यक मतदाताओं को टारगेट किया है। हालांकि अभी भी कई प्रदेशों में मु​स्लिम कांग्रेस का परंपरागत वोट हैं। ऐसे में ओवैसी ने इसी वोट को ध्यान में रखते हुए राहुल गांधी के बयान पर निशाना साधा और हिंदुओं का देश बताने पर सवाल उठाए है। वहीं, कांग्रेस के नेता भी मुस्लिम समुदाय में राहुल के बयान के बाद आए टिप्पणी पर जांच रहे हैं।