अल्विदाई मजलिस के बाद निकला अलम, ताज़िया और ताबूत का जुलूस, अश्कबार हुई अज़ादारों की आंखें

by Waqar Panjtan
Published: Last Updated on

फतेहपुर : इस्लामिक महीने रबिउल अव्वल की आज पहली तारीख है, यानि मोहर्रम खत्म होने में एक सप्ताह बाकी है. 2 महीने 8 दिन तक शिया समुदाय हज़रत इमाम हुसैन अ.स की याद में गम मानते हैं.

आज अलीगंज में जाफर हैदर खुशरू के यहां से अल्विदाई मजलिस के बाद जुलूस निकला, जुलूस में अलम, ताज़िया और ताबूत निकला. शहर के मुकामी नौहाख्वानों ने नौहे पढ़े.  अली, समीर, मोहम्मद, ज़की और जुगनू ने नौहाख्वानी की.  जुलूस अपने मुकामी रास्ते से होता हुआ अलीगंज की करबला में समाप्त हुआ. तबर्रुक में बंद और चाय अज़ादारों को तकसीम किए गए.

जुलूस में  सैकडों अज़ादारों ने शिरकत की, बशीर हुसैन, यूसुफ हैदर, फसानत हुसैन, जुगनू नवाब, फरहत अली, रज़ा हुसैन, गुफरान नक़वी, जाफर ज़ैदी, सदफ अली,  अमन, रमीज, सोनू, शाने, बाबू, समीर सहित सैकडों अज़ादार जुलूस में मौजूद रहे.

आपको बता दें कि 22 सफर से अलीगंज के खुशरू के यहां से 1 रबिउल अव्वल तक 10 दिन मजलिस हुई. जिसको जनाब मौलाना अली रज़ा अशतर चंदन पट्टी बिहार ने खिताब फरमाया

Ⓒ 2022 Copyright and all Right reserved for Newzbulletin.in