अखिलेश का तंज- पीयूष जैन का सपा से संबंध नहीं, BJP ने गलती से अपने ही कारोबारी पर छापा मार दिया

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मंगलवार को कानपुर के इत्र व्यापारी पीयूष जैन (Piyush Jain) के उनकी पार्टी से किसी तरह के संबंध से इनकार किया और मजाक में कहा कि भाजपा ने गलती से अपने ही व्यवसायी पर छापा मारा है।

यहां समाजवादी रथ यात्रा (Samajwadi Rath Yatra) शुरू होने से पहले मीडिया से बातचीत में सपा प्रमुख ने कहा कि व्यापारी के सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) से कई भाजपा नेताओं के नाम सामने आएंगे जो उनके संपर्क में थे।

अखिलेश (Akhilesh Yadav) ने कहा, ‘गलती से भाजपा ने अपने ही कारोबारी पर छापा मारा है।’ उन्होंने दावा किया कि समाजवादी इत्र (इत्र) सपा एमएलसी पुष्पराज जैन ने लांच किया था न कि पीयूष जैन ने।

भाजपा पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने (Akhilesh Yadav) कहा, ‘सत्तारूढ़ भाजपा ने डिजिटल भूल से अपने ही व्यवसायी (पीयूष जैन) के यहां छापा मारा।’ गौरतलब है कि आयकर और केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड द्वारा गत दिनों की गई छापेमारी में कानपुर में इत्र व्यापारी के घर से लगभग 257 करोड़ रुपये नकद, 25 किलो सोना और 250 किलो चांदी बरामद की गई थी।

अदालत के आदेश पर पीयूष जैन को सोमवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। सपा प्रमुख ने कहा कि भारी मात्रा में नकदी की वसूली ने साबित कर दिया है कि नोटबंदी और जीएसटी विफल हो गए हैं। इससे पहले भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया था कि इत्र कारोबारी पीयूष जैन से समाजवादी पार्टी के संबंध रहे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी मंगलवार को हरदोई की सभा में कहा कि कुछ दिन पहले आयकर विभाग ने छापा मारा तो भाई अखिलेश के पेट के अंदर मरोड़ होने लगा। कहने लगे कि राजनीतिक द्वेष के कारण छापा मारा गया है और आज उन्हें जवाब सूझ नहीं रहा है कि समाजवादी इत्र बनाने वाले के यहां से छापे (कन्नौज और कानपुर में इत्र व्यापारी के यहां छापा) में ढाई सौ करोड़ रुपये मिला है।