CM हाउस को गंगाजल से धुलवाने का मुद्दा क्यों नहीं बना: अखिलेश यादव

डेस्क: पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक (PM Modi Security Breach) का मुद्दा पूरे देश में गरमाया हुआ है। इसको लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री (Akhilesh Yadav) ने कहा कि यूपी में बीजेपी सरकार (UP BJP Govt) के आते ही उनकी सुरक्षा भी हटा ली गई थी। यहां तक कि सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास को गंगाजल से भी धुलवाया था। लेकिन इस बात को कभी मुद्दा नहीं बनाया गया।

एक निजी न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में सपा मुखिया अखिलेश (Akhilesh Yadav) ने कहा, मुझे एनएसजी सुरक्षा मिली हुई थी, लेकिन बीजेपी सरकार के आते ही एक दिन अचानक मेरी सुरक्षा हटा दी गई। मतलब उनकी (प्रधानमंत्री) सुरक्षा मजबूत होनी चाहिए, लेकिन विपक्षी नेताओं और आम जनता की जान का कोई महत्व नहीं है। वहीं, इस मौके पर सपा नेता एक बार फिर मुख्यमंत्री आवास के शुद्धिकरण के मुद्दे को छेड़ा।

दरअसल, सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सीएम हाउस को गंगाजल से धुलवाने का मुद्दा गाहे-बगाहे उठाते रहते हैं। सपा नेता का कहना भी है कि 2022 में दोबारा सत्ता में आएंगे तो पूरे मुख्यमंत्री आवास को गंगाजल से धुलवाएंगे।

बता दें कि साल 2017 में यूपी में बीजेपी सरकार बनने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के 5 कालीदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास का गंगाजल से शुद्धिकरण करवाया था। योगी शुद्धिकरण से पहले लखनऊ के वीवीआई गेस्ट हाउस में ही रुके थे, वहां रहकर ही उन्होंने सभी बैठकें और मुलाकातें की थीं। पता हो कि इस सरकारी आवास को 2012 से 2017 तक सीएम रहे सपा नेता अखिलेश यादव ने खाली किया था।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.