CM योगी की लोकप्रियता में ग‍िरावट, जानिए यूपी की जनता किसे बनाना चाहती है मुख्‍यमंत्री?

नई दिल्ली: उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) के लिए सभी पार्टियां मैदान में हैं। भले ही अभी तक तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन प्रदेश में चुनाव प्रचार तेजी से चल रहा है। रोज रैलियां हो रही है। इस बीच ABP News C-Voter लगातार सर्वे (UP Election Survey) करा रहा है।

सर्वे (UP Election Survey) के अनुसार प्रदेश की जनता बतौर मुख्‍यमंत्री इस बार भी वर्तमान मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ को ही देखना चाहती है, लेकिन उनकी लोकप्रियता में ग‍िरावट आयी है। पिछले एक सप्‍ताह में समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और पूर्व मख्‍यमंत्री अख‍िलेश यादव की लो‍कप्रियता बढ़ी है।

सीएम पद के लिए कौन है जनता की पहली पसंद? रिजल्‍ट % में

एबीपी न्यूज-सी वोटर (ABP News C-Voter) ने 15 दिसंबर को जो सर्वे कराया, उसके अनुसार सर्वे में शामिल 42 फीसदी जनता योगी आदित्यनाथ को बतौर सीएम पहली पंसद बता रही है। हालांकि, 6 दिसंबर को हुए सर्वे के मुताबिक, 44 फीसदी लोग योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते थे। इस लिहाज से 6 दिसबंर से लेकर 15 दिसंबर तक के बीच, योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता कम हुई है।

अखिलेश यादव की लोकप्रियता बढ़ी

एक तरफ जहां मुख्‍यमंत्री योगी आदि‍त्‍यनाथ की लोकप्रियता में ग‍िरावट आई है तो वहीं दूसरी ओर सपा प्रमुख अख‍िलेश यादव की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है। सर्वे में शामिल 34% लोग अखिलेश यादव को बतौर सीएम देखना चाहते हैं। 6 दिसंबर को हुए सर्वे तब 31 फीसदी लोगों ने ही अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री के तौर पर पहली पसंद बताया था।

घट गयी मायावती की लोकप्रियता

मुख्‍यमंत्री पद की पहली पसंद के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती की लोकप्रियता घट गयी। 15 दिसंबर को हुए सर्वे में 16 फीसदी लोगों ने सीएम की पहली पंसद के तौर पर मायावती को चुना, जबकि 6 दिसबंर के सर्वे में 14 फीसदी लोगों ने मायावती को मुख्यमंत्री के रूप में पहली पसंद बताया था। इस तरह देखें तो मायावती की लोकप्रियता में ग‍िरावट आ गयी।

कैसा है योगी का कामकाज

अस सवाल के जवाब में सर्वे में शामिल 43 फीसदी लोगों ने सीएम योगी के कामकाज को अच्छा बताया। 20% लोगों ने औसत बताया। जबकि, 37 फीसदी लोग सीएम योगी आदित्यनाथ के कामकाज से संतुष्ट नहीं हैं और उन्होंने योगी आदित्यनाथ के कामकाज को खराब बताया है।