दिल्ली-पानीपत हाईवे पर AAP नेता Nishant Tanwar ने खाया जहर, परिजनों ने कांग्रेस पार्षद पर लगाया उकसाने का आरोप

नई दिल्ली. दिल्ली-पानीपत हाईवे पर आम आदमी पार्टी (AAP) नेता निशांत तंवर (Nishant Tanwar) ने जहर खाकर जान दे दी. निशांत के परिजनों ने दिल्ली कैंट से कांग्रेस पार्षद और अपने पड़ोसी संदीप तंवर पर उसे परेशान और खुद-कु’शी के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है.

फिलहाल पुलिस ने निशांत के परिजनों के बयान पर मुकदमा दर्ज कर लिया है.

कार में मिला AAP नेता Nishant Tanwar का श’व

दरअसल, दिल्ली-पानीपत हाईवे पर कार में एक युवक ने जहर खा लिया. वह कार के पास बेसुध पड़ा था. लोगों ने पुलिस को सूचना दी और अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृ’त घोषित कर दिया. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच की तो श’व की पहचान दिल्ली के नारायणा निवासी निशांत तंवर (Nishant Tanwar) के रूप में हुई.

निशांत तंवर (Nishant Tanwar) के भाई निखिल तंवर ने बताया कि उसका भाई निशांत आम आदमी पार्टी (AAP) में वार्ड-2 का अध्यक्ष था. उनके खिलाफ उनके पड़ोसी और दिल्ली कैंट से निगम पार्षद संदीप तंवर (Sandeep Tanwar) ने 12 सितंबर को मुकदमा दर्ज कराया था. संदीप तंवर ने निशांत-निखिल व उनके माता-पिता पर भी मुकदमा दर्ज कराया था.

ये भी पढ़ें : जया बच्चन के थाली वाले बयान पर Ranvir Shorey का पलटवार, कहा-हमें सिर्फ फेंके जाते हैं टुकड़े

निखिल तंवर के मुताबिक, मंगलवार देर रात करीब साढ़े 12 बजे निशांत ने फोन पर उसे बताया था कि संदीप तंवर उसे परेशान करता रहता है. वह गालियां देता है. उसके खिलाफ नारायणा थाने में झूठा मुकदमा दर्ज भी कराया है. निखिल की माने तो संदीप के दबाव में उसने जहर खा लिया है.

क्यों हुआ था झगड़ा

कांग्रेस पार्षद संदीप तंवर (Sandeep Tanwar) ने दिल्ली पुलिस को बताया था कि नारायणा निवासी निशांत तंवर (Nishant Tanwar) ने 12 सितंबर को सुबह उनपर हम’ला किया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि निशांत बरार स्क्वायर की झुग्गी में सुनील नामक शख्स को दीवार खड़ी नहीं करने दे रहा था. उसने सुनील की ओर से पुलिस आयुक्त और एससी एसटी कमिशन को पत्र लिखकर न्याय की मांग की थी. वहीं निशांत के परिजनों ने पुलिस को बताया था कि संदीप बरार स्क्वायर की सरकारी जमीन पर अपने हिसाब से झुग्गियों का निर्माण कराना चाहता है.