जनवरी में उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान संभव

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत 5 राज्यों के चुनाव (Assembly election 2022) तैयारियों के लिए चुनाव आयोग बुधवार 15 दिसंबर से अपना दौरा शुरू करने जा रहा है। चुनाव आयोग के इस दौरे की शुरुआत पंजाब से होगी। पंजाब में आयोग के अधिकारी 15 और 16 दिसम्बर को दौरा करेंगे।

इस टीम में मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा, चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चन्द्र पांडे के अलावा चुनाव आयोग के दूसरे अधिकारी शामिल होंगे। चुनाव आयोग के अधिकारी इस दौरान पंजाब के वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। आयोग सभी 5 राज्यों (Assembly election 2022) का बारी-बारी चुनावी दौरा करेगा जिसके बाद तैयारियों की समीक्षा कर तारीखों का ऐलान किया जाएगा।

यूपी में दिसंबर के अंत तक दौरा करेगी आयोग की टीम

इस बीच चुनाव आयोग के यूपी दौरे को लेकर भी खबरे सामने आने लगी हैं। कहा जा रहा है कि आयोग की टीम दिसंबर महीने के अंत में उत्तर प्रदेश का दौरा करेगी। इस दौरान आयोग की टीम राज्य के तमाम अधिकारियों से मुलाकात कर चुनाव तैयारियों की समीक्षा करेगी। आबादी और जनसंख्या के मामले में उत्तर प्रदेश काफी बड़ा है, इसलिए यहां कई चरणों में मतदान (Assembly election 2022) होता है। इस बार भी सात से अधिक चरणों में मतदान की संभावना है।

ये भी पढ़ें : BJP की मांग – दिल्ली की अकबर रोड का नाम बदलकर CDS बिपिन रावत के नाम पर रखा जाए

इस बीच मेरठ में उप चुनाव आयुक्त डॉ. चंद्रभूषण कुमार ने भी आयोग के राज्य दौरे को लेकर पुष्टि की है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि क्रिसमस के आसपास लखनऊ में चुनाव आयोग की फुल बेंच मीटिंग होगी। उसके बाद जनवरी के पहले या दूसरे सप्ताह में चुनाव की घोषणा हो जाएगी।

फरवरी-मार्च में मतदान संभव

चुनाव आयोग के सूत्रों का कहना है कि चुनाव (Assembly election 2022) की घोषणा जनवरी महीने में होगी और फरवरी व मार्च महीने के दौरान मतदान और मतगणना की तारीखें तय की जाएंगी। चुनाव प्रक्रिया की शुरुआत जनवरी महीने में हो जाएगी।

Assembly election 2022: किस राज्य में कितनी सीटें

जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं उनमें उत्तर प्रदेश, पंजाब, मणिपुर, गोवा और उत्तराखंड शामिल हैं। सीटों के लिहाज से उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा राज्य है, जहां 403 सीटों पर मतदान होना है। वहीं पंजाब में 117 सीट, उत्तराखंड में 70, मणिपुर में 60 और गोवा में 40 सीटों के लिए मतदान होगा।