इस कंपनी का ऑफर, टायर फट जाए तो कंपनी से आकर नया ले जाओ

 

ब्रिजस्टोन इंडिया ने नेक्ट-जनरेशन टायर- ब्रिजस्टोन स्टर्डो को लॉन्च किया है. कंपनी का दावा है कि टायर में स्पेशल ट्रेड कंपाउंड है, जो टायर की लाइफ को 29% तक बढ़ा देता है और खराब सड़कों पर भी बेहतर राइड क्वालिटी देने में मदद करता है. हालांकि, कंपनी ने यह नहीं बताया कि यह टायर कितने किलोमीटर चल सकता है.

 

ब्रिजस्टोन इंडिया के चीफ कमर्शियल ऑफिसर राजर्षि मोइत्रा ने कहा है कि ‘सड़कों की स्थिति और ड्राइवर के चलाने के तरीके अलग-अलग हो सकते हैं इसीलिए यह कहना सही नहीं होगा कि यह टायर कितने किलोमीटर तक चलने के लिए बेस्ट है लेकिन यह कहा जा सकता है कि ब्रिजस्टोन स्टर्डो अन्य टायरों के मुकाबले 29 फीसदी ज्यादा लाइफ के साथ आता है.’

बिना शर्त वारंटी

ब्रिजस्टोन इंडिया ने बयान में कहा कि टायर पर बिना शर्त वारंटी दी जाएगी. इसका मतलब है कि अगर कोई व्यक्ति ब्रिजस्टोन स्टर्डो खरीदता है और बाद में (लिमिडेट टाइम पीरियड में) उसे टायर के साथ किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है, -जैसे टायर कट या फट जाता है तो उस स्थिति में कंपनी टायर रिप्लेस करेगी.

 

इसके लिए ग्राहक से उतना पैसा चार्ज किया जाएगा, जितना पुराना टायर इस्तेमाल किए जाने के दौरान घिसा होगा. हालांकि, इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि स्टर्डो टायर को भारतीय उपभोक्ताओं के लिए टायर की लंबी लाइप को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है.

किन कारों के लिए है स्टर्डो?

ब्रिजस्टोन स्टर्डो 12 इंच से लेकर 16 इंच तक के कुल 27 साइज में उपलब्ध होगा. इसके कई वेरिएंट होंगे. कंपना का कहना है कि यह हैचबैक, सेडान और कुछ सीयूवी सेगमेंट की कारों के लिए है. इसके साथ ही, बयान में कहा गया कि 3डी ट्रेड ग्रूव्स और बड़े सेंटर-ब्लॉक्स के साथ टायर गीली सड़कों पर भी बेहतर ड्राइविंग सेफ्टी और ज्यादा ग्रिप ऑफर करता है.

बाजार में MRF और CEAT जैसी कंपनियां भी मौजूद

गौरतलब है कि ब्रिजस्टोन भारत में करीब 25 सालों से टायर बना और बेच रही है. इसके साथ ही, MRF, CEAT, Michelin और Goodyear, जैसी अन्य कंपनियां भी मौजूद हैं, जो कारों कई तरह के टायर बनाती और बेचती हैं. हालांकि, ब्रिजस्टोन इंडिया के एमडी पराग सतपुते ने कहा कि भारत में ऑफ्टरमार्केट ऑटोमोटिव टायर स्पेस में ब्रिजस्टोन का मार्केट शेयर 20 फीसदी है.