वैष्णो देवी मंदिर में रोज तैयार हो रहा 500 मुस्लिमों का खाना, कराई जा रही सहरी और इफ्तार

2
699
Vaishno devi temple serving feast to muslims during lockdown
वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा आशीर्वाद भवन में 500 मुस्लिमों को रोज खाना खिलाया जा रहा है (फोटो साभार- गूगल)

नई दिल्ली। कोरोना काल के बीच रमजान के पवित्र महीने में माता वैष्णो देवी मंदिर मुस्लिमों की मदद को आगे आया है। लॉकडाउन की वजह से कटरा में फंसे करीब 500 मुस्लिमों को वैष्णो देवी मंदिर समिति द्वारा खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है।

कोरोना वायरस की वजह से कटरा का आशीर्वाद भवन क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील किया जा चुका है। इस सेंटर में तकरीबन 500 मुस्लिम भी फंसे हुए हैं। पवित्र रमजान माह को देखते हुए मंदिर समिति द्वारा इनकी सहरी और इफ्तारी का इंतजाम किया जा रहा है।

दिन रात मेहनत कर रहे श्राइन बोर्ड के कार्यकर्ता

हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, माता वैष्णो देवी मंदिर श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि रमज़ान के महीने में, वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के लोग सुबह और रात भर काम कर रहे हैं, ताकि मुस्लिम भाइयों को सहरी और इफ्तारी प्रदान की जा सके। उन्होंने बताया कि आशीर्वाद भवन को क्वांरटीन सेंटर बना दिया गया है, जहां 500 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है।

यह भी पढ़ें : प्रवासी मजदूरों के लिए सोनू सूद ने खोले दिल के दरवाजे, कहा-पैदल घर क्यों जाओगे दोस्त, नंबर भेजो

यहां बता दें कि जम्मू-कश्मीर सरकार देश के विभिन्न हिस्सों से अपने लोगों को वापिस ला रही हैं। इन्ही में से करीब 500 लोगों को आशीर्वाद भवन में रखा जा रहा है।

आशीर्वाद भवन में ठहरे हैं अधिकतर मजदूर

कुमार ने बताया कि आशीर्वाद भवन में लाए जाने वाले ज्यादातर मजदूर हैं, जो रमज़ान के महीने में उपवास करते हैं। इसलिए, उन्हें हर रोज सेहरी और इफ्तारी प्रदान करने का फैसला किया गया है।

देश का दूसरा सबसे अमीर तीर्थस्थल है वैष्णो देवी मंदिर

बता दें कि श्री माता वैष्णो देवी तीर्थ सबसे प्रतिष्ठित हिंदू तीर्थस्थलों में से एक है। भारत में तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के बाद वैष्णो देवी मंदिर दूसरा सबसे अमीर तीर्थ बोर्ड भी है। इसके अलावा भी वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड 20 मार्च से जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने पर लगभग 80 लाख रुपये खर्च कर चुका है।

Comments are closed.