कोरोना मरीजों के लिए परिवार ने दान किया मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का वेंटिलेटर

0
175
Stephen Hawking Ventilator

लंदन। दुनिया के सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक स्टीफन हॉकिंग के परिवार ने कोरोना वायरस से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए अपना वेंटिलेटर दान कर दिया है। 2018 में मोटर न्यूरॉन बीमारी से जूझते हुए स्टीफन हॉकिंग ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था।

भौतिक वैज्ञानी स्टीफन हॉकिंग की बेटी लूसी ने बताया कि उनके पिता द्वारा इस्तेमाल किए गए वेंटिलेटर को कैंब्रिज में रॉयल पॉपवर्थ अस्पताल को दान दिया गया है। यह वही अस्पताल है जहां स्टीफन हॉकिंग का इलाज चलता था। लूसी ने बताया कि रॉयल पॉपवर्थ अस्पताल मेरे पिता के जीवन का सबसे अभिन्न हिस्सा रहा, इसलिए हमने यह वेंटिलेटर वहीं दान किया।

लूसी बताती हैं कि कोरोना वायरस की वजह से इस समय दुनिया भर में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में अस्पतालों पर दबाव बढ़ रहा है और वेंटिलेटर की कमी भी देखने को मिल रही है। ऐसे में हमने लोगों की मदद के लिए यह छोटा सा प्रयास किया।

गौरतलब है कि सदी के महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग के जीवन का अधिकतर समय व्हीलचेयर पर ही गुजरा। वह कंप्यूटर की मदद से ही संवाद कर पाते थे। हॉकिंग के पास ब्रिटेन के सरकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के कुछ उपकरण थे।

उनकी बेटी ने कहा कि उनकी मौत के बाद उपकरणों को लौटा दिया गया, लेकिन वेंटिलेटर को कैंब्रिज विश्वविद्यालय और ‘‘द ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’’ के लेखक ने खरीद लिया। रॉयल पापवर्थ अस्पताल ने महामारी के कारण गंभीर रोगियों की देखभाल क्षमता को दोगुना कर दिया है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस के कारण 17,300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।